all

यूपी, गुजरात, महाराष्ट्र समेत कई राज्यों में पेट्रोल-डीजल सस्ता

केंद्र सरकार ने पेट्रोल, डीजल पर 2.50 रुपये प्रति लीटर कटौती करने का ऐलान किया है। वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा कि यह कटौती एक्साइज ड्यूटी में की गई है। इसमें 1.50 रुपये केंद्र सरकार और 1 रुपया तेल मार्केटिंग कंपनियां कटौती करेंगी।

भाजपा शासित उत्तर प्रदेश, महाराष्ट्र, गुजरात, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, झारखंड, उत्तराखंड, हिमांचल प्रदेश और असम सरकार ने भी ने भी तेल की कीमतों में 2.50 रुपये की कटौती की है, इसके बाद वहां लोगों को अब पांच रुपये कम कीमत पर पेट्रोल और डीजल मिलेगा। इन राज्यों के बाद अन्य भाजपा शासित राज्य भी पेट्रोल-डीजल के दाम घटाने पर विचार कर रहे हैं।

वित्त मंत्री जेटली ने राज्य सरकारों से भी कीमत घटाने का अनुरोध किया : यदि राज्य भी इतनी ही कटौती करें, तो दामों में पांच रुपये प्रति लीटर की कमी आएगी। गुरुवार को भी इनके दामों में क्रमश: 15 पैसे और 20 पैसे प्रति लीटर की बढ़ोतरी दर्ज की गई।

सार्वजनिक तेल विपणन कंपनियों ने गुरुवार को जारी अधिसूचना में बताया कि पेट्रोल और डीजल के दाम क्रमश: 15 पैसे और 20 पैसे प्रति लीटर बढ़ाये गए हैं। इस वृद्धि के बाद दिल्ली में पेट्रोल अब 84 रुपये प्रति लीटर तथा डीजल 75.45 रुपये प्रति लीटर पर पहुंच गया है। यह दोनों का सर्वकालिक उच्च स्तर है।

चंदा कोचर ने आईसीआईसीआई बैंक से दिया इस्तीफा

निजी क्षेत्र के सबसे बड़े बैंक आईसीआईसीआई के प्रबंध संचालक पद से चंदा कोचर ने इस्तीफा दे दिया है। कोचर के खिलाफ वीडियोकॉन समूह को गलत तरीके से कर्ज देने का आरोप लगा था। इस मामले में चंदा और उनके पति के शामिल होने की आशंका की लंबे समय से जांच हो रही है। अब बैंक ने संदीप बख्शी को बैंक का नया प्रबंध निदेशक और सीईओ बना दिया है।

बैंक के शेयरों में उछाल 
शेयर बाजार में इस खबर के आने के बाद आईसीआईसीआई बैंक के शेयर में 4 फीसदी से ज्यादा का उछाल देखने को मिला। बैंक का शेयर 316.95 रुपये पर कारोबार करते हुए देखा गया। इससे पहले यह 300 रुपये प्रति शेयर पर खुला था।

किसानों का महामार्च : पूर्वी दिल्ली में धारा-144 लागू, UP बॉर्डर सील

भारतीय किसान यूनियन के नेतृत्व में हजारों की संख्या में किसान दिल्ली कूच कर रहे हैं. हरिद्वार से आ रहे इन किसानों को दिल्ली में दाखिल होने की इजाजत नहीं दी गई है, बावजूद इसके किसान अपनी जिद पर लड़े हैं. जिसके मद्देनजर दिल्ली-यूपी बॉर्डर को सील कर दिया गया है. साथ ही बड़ी संख्या में सुरक्षाबल तैनात किए गए हैं. ऐहतियातन पूर्वी दिल्ली में धारा-144 लागू कर दिया गया है.

कर्जमाफी और बिजली बिल के दाम करने जैसी मांगों को लेकर किसान क्रांति पदयात्रा 23 सितंबर को हरिद्वार से आरंभ हुई थी. जिसके बाद पश्चिमी उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर और मेरठ जिलों से गुजरते हुए किसान सोमवार (1 अक्टूबर) को गाजियाबाद तक पहुंच गए. जहां इन किसानों को रोक दिया गया.

इन किसानों की योजना गांधी जयंती के मौके पर राजघाट से संसद तक मार्च करने की है. लेकिन दिल्ली पुलिस की तरफ से उन्हें इसकी इजाजत नहीं दी गई है. साथ ही दिल्ली-गाजियाबाद बॉर्डर को सील कर दिया गया है. पुलिस ने बेरिगेटिंग कर दी है. यूपी पुलिस और दिल्ली पुलिस ने दिल्ली की तरफ जाने वाले सभी रास्तों को सील कर दिया गया है.

गाजियाबाद से दिल्ली में दाखिल होने वाले रास्ते को भी डाइवर्ट किया गया है. साथ ही साथ दिल्ली से कौशाम्बी और वैशाली की तरफ जाने वाले रास्ते को भी डाइवर्ट किया गया.

मुख्यमंत्री से वार्ता रही विफल

हरिद्वार से दिल्ली के लिए भारतीय किसान क्रांति यात्रा सोमवार को साहिबाबाद पहुंच गई. इस दौरान हजारों की संख्या में किसानों ने जीटी रोड को पूरी तरह जाम कर दिया दिल्ली के लिए कूच करने लगे.

जिलाधिकारी और एसएसपी ने करीब एक घंटे तक किसानों को समझाने की कोशिश की लेकिन किसान दिल्ली जाने पर अड़े रहे. देर रात प्रशासन और पुलिस के अधिकारियों के साथ किसानों के एक प्रतिनिधिमंडल ने दिल्ली से वापस लौटे उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से हिंडन एयर फोर्स स्टेशन पर मुलाकात की.

मुख्यमंत्री और प्रतिनिधिमंडल के बीच करीब दो घंटे चली वार्ता विफल रही और प्रतिनिधिमंडल के लोग प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मिलने की मांग पर अड़े रहे जिस पर मुख्यमंत्री ने केंद्रीय मंत्रियों से बातचीत की.

इसके बाद भाकियू का एक प्रतिनिधिमंडल गन्ना मंत्री सुरेश राणा के साथ दिल्ली के लिए रवाना हो गया. वहीं इस मामले पर जिलाधिकारी ऋतु माहेश्वरी का कहना है कि भाकियू का एक प्रतिनिधिमंडल दिल्ली के लिए रवाना हो गया है जहां वह केंद्रीय मंत्रियों के साथ वार्ता करेगा. उन्होंने बताया कि फिलहाल जीटी रोड स्थित चार फार्म हाउसों में किसानों के रहने की व्यवस्था की गई है.

खाद्य कारोबारियों को लगाना होगा फूड सेफ्टी डिस्प्ले बोर्ड

अब खाद्य प्रतिष्ठानों पर फूड सेफ्टी डिस्प्ले बोर्ड लगाना अनिवार्य कर दिया गया है। खाद्य सुरक्षा एवं मानक प्राधिकरण ने इसे लेकर आदेश जारी कर संबंधित संस्थानों को 15 अक्टूबर तक का समय दिया है। नियम का उल्लंघन करने पर कार्रवाई की जाएगी। यहां तक कि लाइसेंस तक निरस्त किया जा सकता है। डिस्प्ले बोर्ड पर प्रतिष्ठान का नाम, लाइसेंस क्रमाक, रजिस्ट्रेशन एवं स्वच्छता के संबंध में हाईजेनिक कोड प्रदर्शित करना होगा।

आम जनमानस को सुरक्षित और गुणवत्तापूर्ण खाद्य व पेय पदार्थ उपलब्ध कराने एवं खाद्य कारोबारियों की मनमानी को रोकने के उद्देश्य से प्राधिकरण ने इस तरह के दिशा-निर्देश जारी किए हैं। उपभोक्ता अपना फीडबैक देने के लिए प्राधिकरण का आधिकारिक एप भी डाउनलोड कर सकते है। इस एप पर संबंधित खाद्य कारोबारी व कंपनी के लाइसेंस व रजिस्ट्रेशन नंबर को डालकर अपना फीडबैक ऑनलाइन भेज सकते है। इसके अलावा रेस्टोरेंट में उनके द्वारा उपलब्ध कराए गए फार्म या बोर्ड पर भी अपना फीडबैक दे सकेंगे।

आर्थिक संकट से जूझ रही पाकिस्तान सरकार ने भैंस बेचकर कमाए 23 लाख रुपये

आर्थिक संकट से जूझ रही पाकिस्तान सरकार ने बृहस्पतिवार को भैंस बेचकर 23 लाख रुपये की कमाई की। ये कमाई प्रधानमंत्री इमरान खान के आदेश पर पीएम आवास में मौजूद पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की 8 भैंसों की नीलामी से की गई। इन भैंसों को शरीफ ने अपना लजीज पकवानों का शौक पूरा करने के लिए खरीदा था।

बड़े कर्ज और देनदारियों से जूझ रही सरकार का आर्थिक संकट दूर करने के लिए हाल ही में प्रधानमंत्री बने इमरान ने बड़ी कटौती का अभियान शुरू किया है। इस अभियान के तहत सरकार ने पिछले सप्ताह 61 लक्जरी कारों को बेचकर 2 करोड़ रुपये जुटाए थे। अभियान के तहत कुल 102 अतिरिक्त कारों को नीलाम करने की योजना है, जिनमें सरकारी कैबिनेट की तरफ से उपयोग किए जाने वाले बुलेटप्रूफ वाहन और चार हेलीकॉप्टर भी शामिल हैं।

10वीं और 12वीं के छात्रों के लिए बड़ी खबर, सीबीएसई बोर्ड परीक्षा के टाइम टेबल में बदलाव

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड 2019 में होने वाली दसवीं व बारहवीं की परीक्षाओं के टाइम टेबल में बदलाव करने जा रहा है। बोर्ड अगले साल बोर्ड परीक्षाएं दो चरणों में आयोजित करेगा। फरवरी में वोकेशनल विषयों की परीक्षा आयोजित होगी। जबकि एकेडमिक विषयों की परीक्षा पहले की भांति मार्च में बाहरी सेंटरों पर आयोजित की जाएगी। इन विषयों में भाषा, गणित, फिजिक्स, केमिस्ट्री, बॉयोलॉजी, भूगोल, इकोनॉमिक्स, बिजनेस स्टडीज, एकाउंटेंसी, समेत अन्य अन्य विषय शामिल हैं। सीबीएसई ने यह निर्णय अदालत के आदेश के अनुसरण में लिया है।

दिल्ली हाईकोर्ट ने जुलाई में दिल्ली विश्वविद्यालय व सीबीएसई को निर्देशित किया था कि वह अगले शैक्षिक सत्र के लिए दाखिले के लिए सीबीएसई रिजल्ट, पुनर्मूल्यांकन के परिणामों, व कटऑफ की तिथियों का ध्यान रखें। ताकि छात्रों को परेशानी उठानी ना पड़े। इसके बाद मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने सीबीएसई व डीयू को आपस में बात कर इस दिशा में कदम उठाने को कहा था। काफी विचार-विमर्श के बाद सीबीएसई ने फरवरी के उत्तरार्द्ध में सभी वोकेशनल विषयों की परीक्षा कराने का फैसला किया। बोर्ड की ओर से बारहवीं में 40 वोकेशनल विषय व दसवीं में 15 वोकेशनल विषय का विकल्प उपलब्ध कराया जाता है।
बोर्ड दसवीं व बारहवीं में 55 एकेडमिक विषयों का देता है विकल्प 
ऐसे विषयों जिनमें थ्योरी कम व प्रैक्टिकल का भाग ज्यादा होता है, उन विषयों की परीक्षा भी फरवरी में ही आयोजित की जाएगी। इनमें टाइपोग्रॉफी, कंप्यूटर ऐप्लिकेशन (अंग्रेजी), वेब ऐप्लिकेशन, ग्राफिक्स, ऑफिस कम्यूनिकेशन जैसे विषय शामिल हैं। इससे बोर्ड को मुख्य परीक्षा व पुनर्मूल्यांकन परीक्षा के रिजल्ट जल्दी देने में सुविधा होगी। सीबीएसई दसवीं व बारहवीं में 240 एकेडमिक विषयों का विकल्प देता है। बारहवीं में भाषा अनिवार्य विषय के रुप में होती है। जबकि दसवीं में भाषा, गणित, साइंस व सोश्ल साइंस अनिवार्य विषय होते हैं। सीबीएसई के जिन विषयों की परीक्षा फरवरी व मार्च में होगी, उनके संबंध में अगले सप्ताह जानकारी जारी कर दी जाएगी।

भारत और बांग्लादेश में होगा फाइनल मुकाबला

मुशफिकुर रहीम (99) भले ही एक रन से शतक से चूक गए लेकिन विषम परिस्थितियों में खेली गई उनकी शानदार पारी और मुस्तफिजुर रहमान (4/43) की उम्दा गेंदबाजी के दम पर बांग्लादेश ने बुधवार को एशिया कप के करो या मरो के सुपर फोर मुकाबले में पाकिस्तान को 37 रन से शिकस्त देकर फाइनल में प्रवेश कर लिया। पाक की हार के साथ ही क्रिकेट प्रेमियों की दो चिर प्रतिद्वंद्वियों भारत-पाक के बीच एक और महामुकाबला देखने की हसरत अधूरी रह गई।

अब खिताबी मुकाबले में शुक्रवार को बांग्लादेश का सामना टीम इंडिया से होगा। बांग्लादेश से मिले 240 रन के लक्ष्य का पीछा करने उतरी सरफराज अहमद की टीम 50 ओवर में नौ विकेट पर 202 रन ही बना पाई।

आज से फ्रिज-एसी-वाशिंग मशीन समेत 19 विदेशी वस्तुएं महंगी

आयातित एयर कंडीशनर, रेफ्रिजरेटर और वाशिंग मशीन अब महंगे हो जाएंगे। सरकार ने इन वस्तुओं के साथ-साथ 19 वस्तुओं पर आयात शुल्क बढ़ा दिया है, ताकि बढ़ते चालू खाता घाटा (सीएडी) पर लगाम लगाया जा सके। ये शुल्क बुधवार मध्य रात से ही लागू होगा। सरकार ने कहा कि ये सब सामान गैर जरूरी हैं, इसलिए इनके आयात को हतोत्साहित करने के लिए शुल्क बढ़ाया गया है।

केंद्रीय वित्त मंत्रालय ने कहा कि केंद्र सरकार ने आयात किए जाने वाले कुछ सामानों का आयात घटाने के लिए आधारभूत सीमा शुल्क में बढ़ोतरी के जरिए शुल्क बढ़ाने का फैसला किया है। इन बदलावों का मकसद चालू खाता घाटा को कम करना है। कुल मिलाकर 19 सामानों पर सीमा शुल्क बढ़ाया गया है।

अब आयात किए जाने वाले एयर कंडीशनर, रेफ्रिजरेटर तथा 10 किलो तक के वाशिंग मशीन पर आयात शुल्क 10 फीसदी से बढ़ा कर 20 फीसदी कर दिया गया है। यही नहीं, एयर कंडीशनर तथा रेफ्रिजरेटर के कंप्रेशर पर भी आयात शुल्क 7.5 फीसदी से बढ़ा कर 10 फीसदी कर दिया गया है।

इन वस्तुओं के अलावा स्पीकर, जूते, रेडियल कार टायर, आभूषण सामग्रियां, कई तरह के हीरे, बाथरूम, रसोई और घरों में काम आने वाले कुछ साजो-सामान, प्लास्टिक के कुछ खास सामान तथा ऑफिस स्टेशनरी, ट्रंक तथा हवाई जहाज के इंधनों पर भी शुल्क बढ़ा है। इस दायरे में शामिल अन्य वस्तुओं में वाशिंग मशीन, स्पीकर्स, रेडियल कार टायर, आभूषण, रसोई के सामान, कुछ प्लास्टिक के सामान और सूटकेस शामिल हैं। बता दें कि एसी, फ्रिज और वाशिंग मशीन (जिनका भार 10 किलोग्राम से कम है) पर आयात शुल्क को बढ़ाकर 20 प्रतिशत कर दिया गया है।

मृतक के परिवार के दुखो में शामिल होने पहुंचे राष्ट्रीय लोक समता पार्टी के युवा प्रदेश प्रधान महा सचिव और प्रदेश महासचिव

डुमराव बिहार |
पिछले दिनों एक सड़क दुर्घटना में हए डुमराव भोजपुर के निवासी रामेश्वर कुशवाहा के सुपुत्र की मौत हो गयी थी | जिनके याद में २५ सितम्बर को डुमराव प्रखंड भोजपुर में एक शोक सभा आयोजन हुआ जिसमे राष्ट्रीय लोक समता पार्टी के बिहार प्रदेश प्रधान महासचिव अरुण कुशवाहा ,पार्टी के प्रदेश महासचिव योगेंद्र चौहान ,बक्सर जिला महासचिव रामजीआवन सिंह के साथ कई साथियों ने शोक सभा में सम्मलित होकर दुखी परिवार को सांत्वना दिया |
आपको बताते चले की बक्सर डुमराव संपर्क मार्ग की हालत बहुत ही ख़राब हो चुकी है | जगह जगह पानी के भराव और गढ्ढो के कारन हमेशा दुर्घटनावो की समभावनए यहां भी बानी रहती है |

हिमाचल प्रदेश में भारी बर्फबारी के कारण दो की मौत और 300 लोगों को सुरक्षित स्थान पर पहुंचाया गया

हिमाचल प्रदेश में मंगलवार को मौसम खुल गया। उधर राज्य के लाहुल-स्पीति जिले में बर्फबारी में फंसे दो लोगों की मौत हो गई। जिले के सिस्सू, कोकसर व जिगजिगबार में फंसे करीब 600 लोगों में से अब तक 300 को सुरक्षित निकाल लिया गया है। इनमें आईआईटी मंडी के पांच सहायक प्रोफेसर व एक प्रशिक्षु और शैक्षणिक भ्रमण पर गए आईआईटी रुड़की के 45 विद्यार्थी शामिल हैं। अभी तक घाटी में करीब 300 लोग फंसे हुए हैं, जिनकी तलाश के लिए सेना के दो हेलिकॉप्टरों की मदद ली जा रही है। दूसरी ओर जम्मू-कश्मीर में बारिश का सिलसिला थमने के बावजूद भूस्खलन व बाढ़ में बहने से छह लोगों की मौत हो गई।

पंजाब में मंगलवार को मौसम साफ होने से भले ही लोगों ने राहत की सांस ली हो लेकिन बाढ़ का खतरा अभी भी बरकरार है। प्रदेश में शनिवार से सोमवार तक तीनों में करीब 200 मिलीमीटर बारिश हुई है। प्रदेश की सतलुज, रावी, ब्यास व घग्गर नदियां उफान पर हैं। सरकार की चिंता पौंग डैम को लेकर है। यह लगभग भर गया है। यदि पानी छोड़ा जाता है तो होशियारपुर सहित आसपास के कुछ क्षेत्रों में बाढ़ आ सकती है।

Translate »