Month: July 2019

बारिश का कहर : बिहार- असम में बाढ़ से अब तक 192 की मौत, दोनों राज्यों में 1.09 करोड़ लोग प्रभावित।

बारिश का कहर : बिहार- असम में बाढ़ से अब तक 192 की मौत, दोनों राज्यों में 1.09 करोड़ लोग प्रभावित।

बिहार और असम में बाढ़ की स्थिति चिंताजनक बनी हुई है। बिहार में बाढ़-बारिश से अब तक 106 और असम में 74 मौतें हो चुकी हैं। दोनों राज्यों में 1.09 करोड़ लोग प्रभावित हैं। बिहार के 12 जिलों में बाढ़ से अब तक 8.85 लाख से ज्यादा की आबादी प्रभावित है। बाढ़ के कारण सीतामढ़ी में 27, मधुबनी में 25, अररिया में 12, शिवहर और दरभंगा में 10-10, पूर्णिया में 9, किशनगंज में 5, सुपौल में 3, पूर्वी चंपारण और मुजफ्फरपुर में 2-2 लोगों की जान गई। राज्य की कोसी, महानंदा, बूढ़ी गंडक, बागमती, अधवारा समूह, कमला बलान और परमान नदी खतरे के निशान से ऊपर बह रही हैं। बिहार में 76 लाख 85 हजार से अधिक की आबादी प्रभावित हुई है। इन 12 जिलों में कुल 81 राहत शिविर चलाए जा रहे हैं जहां 76,400 लोग शरण लिए हुए हैं। इनके भोजन की व्यवस्था के लिए 712 सामुदायिक रसोई चलाई जा रही है। बाढ़ प्रभावित इलाके में राहत एवं बचाव कार्य के लिए एनडीआरएफ और एसडीआरएफ की कुल 26 टीमें लगाई गई हैं और 125 मोटरबोट का इस्तेमाल किया जा रहा है।

असम में बाढ़ से अब भी विकट स्थिति बनी हुई है। छह और लोगों की मौत के बाद अब मृतकों की संख्या 74 तक पहुंच गई है। असम राज्य आपदा प्रबंधन अथॉरिटी (एएसडीएमए) के मुताबिक 33 जिलों में से 20 जिलों में बाढ़ से 38.82 लाख लोग प्रभावित हैं। आपदा प्रबंधन अथॉरिटी ने बताया कि 20 जिलों के 2,993 गांव अब भी बाढ़ में डूबे हुए हैं और इससे 34,82,170 लोग प्रभावित हैं। असम राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण ने कहा कि जिला प्रशासनों ने 757 राहत शिविर और राहत वितरण केन्द्र बनाए हैं जिनमें कुल 96,890 विस्थापित लोग रह रहे हैं। अथॉरिटी ने बताया कि मौत के छह ताजा मामले सामने आए। नलबाड़ी, बारपेटा, धुब्री और गोलाघाट जिले में एक-एक व्यक्ति की मौत हो गई जबकि तीन लोगों की मौत मोरीगांव में हुई। एएसडीएमए ने बताया कि ब्रह्मपुत्र सहित राज्य की नदियां अब भी ‘खतरे के स्तर’ पर बह रही हैं।

यूपी की बात करें तो यहां भी स्थिति भयावह है। पूर्वांचल के कई जिले बाढ़ की चपेट में हैं। लगातार भारी बारिश और बाढ़ के कारण करीब 15 लोगों की जान चली गई है। मौसम विभाग ने मंगलवार को पूर्वी यूपी के कुछ हिस्सों में भारी बारिश की आशंका जाहिर की है। इसके अलावा आने वाले 48 घंटों के भीतर झारखंड, मध्य प्रदेश, कर्नाटक और पूर्वोत्तर के राज्यों में भी भारी बारिश की आशंका को देखते हुए अलर्ट जारी किया गया है।

कर्नाटक : 14 महीने पुरानी कांग्रेस-जेडीएस सरकार गिरी ,कुमारस्वामी नहीं बचा पाए सरकार अब BJP पेश करेगी दावा

 कर्नाटक : 14 महीने पुरानी कांग्रेस-जेडीएस सरकार गिरी ,कुमारस्वामी नहीं बचा पाए सरकार अब BJP पेश करेगी दावा

कर्नाटक (Karnataka) का नाटक अब खत्म हो चुका है. कर्नाटक में बीते कई दिनों से जारी राजनीतिक उठापटक के बीच 14 महीने पुरानी कांग्रेस-जेडीएस (Congress-JDS) सरकार गिर गई है. मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी  विधानसभा में बहुमत साबित नहीं कर सके. विधानसभा में फ्लोर टेस्ट के दौरान सरकार के पक्ष में 99 और विरोध में 105 वोट डाले गए. विश्वास मत में जीत हासिल करने के बाद बीजेपी के विधायक विक्ट्री साइन दिखाते हुए नजर आए. जल्दी ही एचडी कुमारस्वामी राजभवन जाकर इस्तीफा सौंप सकते हैं. उनके इस्तीफे के बाद कर्नाटक के गवर्नर वजुभाई वाला बीजेपी लीडर बीएस येदियुरप्पा को सरकार गठन का न्योता दे सकते हैं.

कार्यवाही में 21 विधायकों ने हिस्सा नहीं लिया जिससे सदन की प्रभावी क्षमता घटकर 204 रह गयी. कार्यवाही में कांग्रेस-जेडीएस (17), बसपा (एक), निर्दलीय (दो) के विधायक नहीं आए. इस तरह 103 का जादुई आंकड़ा नहीं जुट पाया. 99 विधायकों ने प्रस्ताव के पक्ष में वोट दिया है जबकि 105 सदस्यों ने इसके खिलाफ मत दिया है. इस प्रकार यह प्रस्ताव गिर गय उन्होंने कहा कि जब विधानसभा चुनाव का परिणाम (2018 में) आया था, वह राजनीति छोड़ने की सोच रहे थे. कुमारस्वामी ने कहा, ‘मैं राजनीति में अचानक और अप्रत्याशित तौर पर आया था.’

उन्होंने कहा कि जनता के अनुकूल सरकार प्रदान करने के लिए उन्होंने ईमानदारी से काम किया भाजपा पर जल्दबाजी में होने का आरोप लगाते हुए उन्होंने कहा, ‘भाषण के बाद मैं कहीं नहीं भागने वाला. लोगों को पता तो चले कि क्यों मैं हटा. आंकड़ों से डरकर मैं भाग नहीं रहा. वोटों की गिनती होने दीजिए.’ मुख्यमंत्री का पद किसी के लिए भी स्थायी नहीं है.

मतदान के बाद विजय चिन्ह बनाते हुए भाजपा नेता बी एस येदियुरप्पा ने परिणाम को लोकतंत्र की जीत बताया. उन्होंने कर्नाटक के लोगों को आश्वस्त किया कि भाजपा के सत्ता में आने के साथ विकास का एक नया युग आरंभ होगा. अगले कदम पर येदियुरप्पा ने कहा कि शीघ्र ही उपयुक्त फैसला किया जाएगा कुमारस्वामी सरकार के विश्वास मत के दौरान बहुजन समाज पार्टी (बसपा) के विधायक के विधानसभा से गैरहाजिर रहने को पार्टी सुप्रीमो मायावती ने गंभीरता से लेते हुए उन्हें तत्काल प्रभाव से पार्टी से निष्कासित कर दिया है.

ICJ भारत की जीत : इंटरनेशनल कोर्ट ऑफ़ जस्टिस ने कुलभूषण जाधव की फांसी पर रोक लगायी और भारत को जाधव कांस्युलर एक्‍सेस देने का आदेश भी दिया।

ICJ में भारत की जीत : इंटरनेशनल कोर्ट ऑफ़ जस्टिस ने कुलभूषण जाधव की फांसी पर रोक लगायी और भारत को जाधव कांस्युलर एक्‍सेस देने का आदेश भी दिया।

नीदरलैंड्स के द हेग स्थित इंटरनेशनल कोर्ट ऑफ जस्टिस ने भारत के कुलभूषण जाधव के पक्ष में बड़ा फैसला सुनाया है. ICJ ने अपने फैसले में कहा कि कुलभूषण जाधव की फांसी पर रोक लगेगी और कूलभूषण जाधव के केस पर फिर से नए सिरे से विचार होगा. इसके साथ ही ICJ ने ये भी फैसला सुनाया है कि कुलभूषण जाधव को काउंसिलर एक्सेस की इजाजत मिलेगी. अदालत ने 15-1 से भारत के पक्ष में फैसला सुनाया. बता दें कि ईरान के चाबहार में बिजनेस करने वाले भारतीय नौसेना के पूर्व अफसर कुलभूषण जाधव को भारत का जासूस बताकर पाकिस्तान ने गहरी साजिश चली थी. भारत ने पाकिस्तान के प्रोपेगेंडा का जवाब देते हुए साफ कहा था कि उसे अगवा किया गया था, इसीलिए जब पाकिस्तान की मिलिट्री कोर्ट ने उसके लिए सजा-ए-मौत मुकर्रर की तो भारत हेग की अंतरराष्ट्रीय अदालत में गया. कुलभूषण जाधव पर नीदरलैंड में भारतीय उच्चायोग ने कहा कि काउंसलर एक्सेस की अनुमति देने के लिए गेंद अब पाकिस्तान के कोर्ट में है. फैसले की ताकत को देखते हुए यह जल्द होना चाहिए. आईसीजे का फैसला भारत के पक्ष में है.

पाकिस्तान की जेल में बंद भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव से जुड़े मामले में इंटरनेशनल कोर्ट ऑफ जस्टिस(आईसीजे) ने अपना फैसला सुना दिया है. इंटरनेशनल कोर्ट ने उनकी फांसी पर रोक लगा दी है. भारत के हक में फैसला सुनाते हुए इंटरनेशनल कोर्ट ने जाधव को कांस्युलर एक्‍सेस देने का आदेश भी दिया

हरीश साल्वे ने कहा कि आईसीजे ने जिस तरह से मामले में हस्तक्षेप किया है उससे हम उसका आभार जताते हैं. इससे कुलभूषण जाधव को फांसी की सजा बच गई.

8 मई 2017 को पहली बार भारत ने इस मामले में अंतरराष्‍ट्रीय कोर्ट का दरवाजा खटखटाया था. उस वक्‍त भारत की प्राथमिकता जाधव को मिली फांसी की सजा का स्‍थगन थी. भारत इसमें कामयाब भी रहा और 18 मई 2017 को अंतरराष्‍ट्रीय कोर्ट ने कुलभूषण जाधव (Kulbhushan Jadhav) की सजा के स्‍थगन का आदेश दिया था.इस आदेश में यहां तक कहा गया था कि जब तक आईसीजे इस संबंध में अपना फैसला न सुना दे तब तक पाकिस्‍तान सैन्‍य अदालत द्वारा दी गई सजा को स्‍थगित किया जाए. करीब तीन वर्ष तक चले इस मामले में अब जानते हैं कि दोनों देशों ने अपने पक्ष में क्‍या कहा.

19 साल की हिमा का जबरदस्त प्रदर्शन, 11 दिन के अंदर जीता तीसरा गोल्ड मेडल।

19 साल की हिमा का जबरदस्त प्रदर्शन, 11 दिन के अंदर जीता तीसरा गोल्ड मेडल।

भारतीय स्टार धाविका हिमा दास का दमदार प्रदर्शन जारी है। उन्होंने दो हफ्ते के अंदर ही तीसरा गोल्ड मेडल जीत लिया है। हिमा ने महिलाओं की 200 मीटर दौड़ में 11 दिन के अंदर ही तीसरा गोल्ड मेडल हासिल कर लिया है। चेक रिपब्लिक में चल रहे क्लाद्नो मेमोरियल एथलेटिक्स मीट में ये गोल्ड हासिल किया। हिमा ने मात्र 23.43 सेकंड्स के समय में स्वर्ण पदक अपने नाम किया। इससे पहले वह 12 जुलाई को फिनलैंड के टाम्परे में आयोजित अंडर -20 एथलेटिक्स जूनियर चैंपियनशिप में महिलाओं की 400 मीटर दौड़ में स्वर्ण पदक जीतकर देश को गौरवान्वित  कर चुकी है।

जीत के बाद, हेमा दास ने कहा, “मैं देश में सभी भारतीयों और उन लोगों को भी धन्यवाद देना चाहती हूं, जो यहां मेरे साहस के पक्षधर थे। मैं अपने कंधों पर भारत का झंडा पकड़ने के लिए बहुत खुश हूं। 100 मीटर मेरी ताकत है। अब मेरा लक्ष्य एशियाई खेल है। लेकिन मेरा सपना ओलंपिक में जीतना है। ”
हेमा ने फिनलैंड के टेंपेरे में फाइनल जीतने के लिए 51.46 सेकेंड का समय लिया। वह इस चैम्पियनशिप की सभी श्रेणियों में स्वर्ण जीतने वाली भारत की पहली महिला बन गई हैं। वह स्पीयरहेड स्टार खिलाड़ी नीरज चोपड़ा की सूची में शामिल हो गईं, जिन्होंने 2016 में विश्व रिकॉर्ड प्रयास के साथ आखिरी प्रतियोगिता में स्वर्ण पदक जीता था।

ऐतिहासिक सफलता पर, हेमा को पूरे देश से बधाई मिल रही है। अमिताभ बच्चन, शत्रुघ्न सिन्हा, अक्षय कुमार और फरहान अख्तर ने इस बड़ी जीत के लिए सोशल मीडिया पर भारतीय एथलीट हेमा दास को बधाई दी है।

जीत के बाद, हेमा दास ने कहा, “मैं देश में सभी भारतीयों और उन लोगों को भी धन्यवाद देना चाहती हूं, जो यहां मेरे साहस के पक्षधर थे। मैं अपने कंधों पर भारत का झंडा पकड़ने के लिए बहुत खुश हूं। 100 मीटर मेरी ताकत है। अब मेरा लक्ष्य एशियाई खेल है। लेकिन मेरा सपना ओलंपिक में जीतना है।

ICC वर्ल्ड कप 2019 : क्रिकेट की दुनिया में इंग्लैंड छठा नया वर्ल्ड चैम्पियन है ,रोमांचक मुकाबले में हराया न्यूजीलैंड को ।

 ICC वर्ल्ड कप 201:  क्रिकेट की दुनिया में इंग्लैंड छठा नया वर्ल्ड चैम्पियन है ,रोमांचक मुकाबले में हराया न्यूजीलैंड को ।

क्रिकेट वर्ल्ड कप के इतिहास में जो कभी नहीं हुआ वो रविवार को इंग्लैंड के लॉर्ड्स मैदान पर देखने को मिला. क्रिकेट की जनक कहे जाने वाली इंग्लैंड टीम ने न्यूजीलैंड को हराकर पहली बार इस खिताब को अपने नाम किया तो वहीं दूसरी तरफ उन्हें यह जीत जिस अंदाज में मिली वैसा भी कभी किसी वर्ल्ड कप फाइनल मैच में देखने को नहीं मिला. मैच टाई होने के बाद सुपर ओवर हुआ और सुपर ओवर में भी दोनों टीमों का स्कोर बराबरी पर अटक गया, बावजूद इसके इंग्लैंड की टीम सुपर चैम्पियन बन गई.

मेजबान टीम को यह ताज आईसीसी के नियमों की वजह से मिला है, जो कहता है कि अगर सुपर ओवर में भी मैच टाई हो जाए तो ज्यादा जिस टीम की पारी में ज्यादा बाउंड्री होती हैं, उसे ही विजेता मान लिया जाता है. इस हिसाब से देखा जाए तो इंग्लैंड ने अपनी 50 ओवर की पारी और सुपर ओवर में मिलाकर कुल 26 बाउंड्री मारी, जिसमें 24 चौके और दो छक्के शामिल हैं. जबकि न्यूजीलैंड ने सुपर समेत अपनी पारी में कुल 17 बाउंड्री ही लगा पाया.

लॉर्ड्स के मैदान में टॉस जीतकर न्यूजीलैंड के कप्तान केन विलियमसन ने पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया और 50 ओवर खेलते हुए 8 विकेट खोकर 241 रन बनाए. न्यूजीलैंड ने अपनी पारी में 14 चौके और 2 छक्के लगाए. इस तरह उसने बाउंड्री के सहारे 68 रन बनाए. वहीं, सुपर ओवर में न्यूजीलैंड की तरफ से सिर्फ एक बाउंड्री लग पाई, जब जिमी नीशाम ने छक्का लगाया. यानी न्यूजीलैंड ने अपनी 50 ओवर की पारी और सुपर में मिलाकर कुल 17 (14 चौके, 3 छक्के) बाउंड्री लगाईं. इस तरह बाउंड्री के सहारे ने न्यूजीलैंड ने कुल 74 रन बनाए.

जबकि दूसरी तरफ इंग्लैंड के बल्लेबाजों का आतिशी अंदाज ही उनकी जीत का कारण बन गया. न्यूजीलैंड 241 रनों के स्कोर का पीछा करते हुए इंग्लैंड के जिन बल्लेबाजों ने भी रन बनाए उसमें जमकर बाउंड्री लगाईं. जेसन रॉय, बेन स्टोक्स, जॉस बटलर और बेयरस्टो की शानदार बल्लेबाजी की बदौलत इंग्लैंड ने 50 ओवर की पारी में कुल 22 चौके और 2 छक्के लगाए. जबकि दो चौके बेन स्टोक्स और जॉस बटलर ने सुपर ओवर में लगाए. इस तरह इंग्लैंड ने सुपर ओवर समेत अपनी पूरी पारी में कुल 26 बाउंड्री (24 चौके, 2 छक्के) लगाईं और इनके सहारे 108 रन जुटाए. वर्ल्ड कप के इतिहास में 23 साल बाद नया वर्ल्ड चैम्पियन देखने को मिला है. आखिरी बार श्रीलंका ने 1996 के वर्ल्ड कप में पहली बार वर्ल्ड कप जीता था. 1996 के बाद ऑस्ट्रेलिया ने 4 बार और वर्ल्ड कप जीता, जो 1987 में भी एक बार वर्ल्ड चैम्पियन बन चुकी थी. 2011 वर्ल्ड कप में भारत ने अपने दूसरे खिताब पर कब्जा किया था. इससे पहले वह 1983 में वर्ल्ड चैम्पियन बना था.

सबसे ज्यादा रन बनाकर रोहित शर्मा ने जीता ‘गोल्डन बैट’.

‘गोल्डन बॉल’ मिचेल स्टार्क को मिली.

प्लेयर ऑफ़ थे टूर्नामेंट बने केन विलिमसन.

ICC वर्ल्ड कप सेमीफाइनल 2019: वर्ल्ड कप जीतने का भारत का सपना टूटा न्यूज़ीलैंड ने 18 रन से हराया ,जडेजा ने खेली शानदार 77 रनो की पारी

 ICC वर्ल्ड कप सेमीफाइनल 2019: वर्ल्ड कप जीतने का भारत का सपना टूटा न्यूज़ीलैंड ने 18 रन से हराया ,जडेजा ने खेली शानदार 77 रनो की पारी  !

मैनचेस्टर में खेले गए ICC क्रिकेट वर्ल्ड कप 2019 के पहले सेमीफाइनल मुकाबले में न्यूजीलैंड ने टीम इंडिया को 18 रनों से हरा दिया. इसी के साथ भारत का तीसरी बार वर्ल्ड चैम्पियन बनने का सपना भी टूट गया. भारतीय टीम को सेमीफाइनल में न्यूजीलैंड की टीम ने बेहद कसे हुए मुकाबले में शिकस्त दी

टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए न्यूजीलैंड की टीम ने 50 ओवर में 8 विकेट के नुकसान पर 239 रन बनाए और भारत के सामने 240 रनों का लक्ष्य रखा. यह छोटा-सा टारगेट भी टीम इंडिया के लिए बड़ी चुनौती रहा. लक्ष्य का पीछा करते हुए टीम इंडिया 49.3 ओवर में 221 रन पर ही ऑलआउट हो गई.

न्यूजीलैंड लगातार दूसरी बार फाइनल में पहुंची है. उसने 2015 वर्ल्ड कप में भी फाइनल खेला था. फाइनल में न्यूजीलैंड का सामना ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के बीच गुरुवार को खेले जाने वाले दूसरे सेमीफाइनल मैच की विजेता से होगा. मैनचेस्टर में कीवी टीम का यह तीसरा सेमीफाइनल है जिसमें से दो में उसे हार जबकि यह उसकी पहली जीत है.

वहीं भारत लगातार दूसरी बार सेमीफाइनल में हार कर वर्ल्ड कप से बाहर हुई है. 2015 में ऑस्ट्रेलिया ने सेमीफाइनल में भारत को हराया था. 240 रनों का पीछा करना ओल्ड ट्रेफर्ड की पिच पर आसान नहीं था क्योंकि बारिश और मौसम ने यहां की स्थितियां तेज गेंदबाजों के मुफीद बना दी थीं. भारत ने 92 रनों पर ही अपने छह विकेट खो दिए थे. यहां से रवींद्र जडेजा (77) और महेंद्र सिंह धोनी (50) ने सातवें विकेट के लिए 116 रनों की साझेदारी कर भारत को जीत के करीब पहुंचाया. यह वर्ल्ड कप में सातवें विकेट के लिए दूसरी सबसे बड़ी साझेदारी है.

ऐसा लग रहा था कि जडेजा और धोनी की जोड़ी भारत को फाइनल में पहुंचा देगी तभी ट्रेंट बोल्ट ने मैच का रुख बदल दिया. उन्होंने 208 के कुल स्कोर पर जडेजा को कप्तान केन विलियम्सन के हाथों कैच कराया. जडेजा ने 59 गेंदों का सामना कर चार चौके और चार छक्के मारे.

धोनी क्रीज पर भारत की आखिरी उम्मीद थे. आखिरी दो ओवरों में भारत को 31 रनों की दरकार थी. धोनी ने पहली गेंद पर छक्का मारा और दूसरी गेंद पर दो रन लेने चाहे. दूसरा रन लेने दौड़े धोनी, मार्टिन गप्टिल की डायरेक्ट हिट से पहले बल्ला क्रीज पर नहीं रख सके और यहीं भारत की उम्मीदें खत्म हो गई. धोनी ने 72 गेंदों का सामना कर एक छक्का और एक चौका लगाया.

लॉकी फर्ग्यूसन ने भुवनेश्वर कुमार (0) और जिमी नीशाम ने युजवेंद्र चहल (5) को आउट कर भारत को सेमीफाइनल में हार सौंपी. इससे पहले, भारत की शुरुआत बेहद खराब रही और उसका मध्यक्रम एक बार फिर जिम्मेदारी भरी पारियों से अछूता रहा. भारत ने पांच रनों के कुल स्कोर पर अपने शीर्ष क्रम को खो दिया था.

हलाकि सोशल मीडिया पर कह जा रहा है कि महेंद्र सिंह धोनी जिस गेंद पर रन आउट हुए थे उसे उसे नो बॉल दिया जाना चाहिए था. ट्विटर यूजर्स का कहना है कि अंपायर ने धोनी के रनआउट के फैसले में पावर प्ले के दौरान फील्डिंग के नियमों को नजरअंदाज किया. लोगों का कहना है कि तीसरे पावर प्ले में तीस गज के दायरे के बाहर अधिकतकम 5 खिलाड़ी ही बाहर रह सकते हैं, लेकिन धोनी के रन आउट के वक्त 6 खिलाड़ी सर्कल से बाहर थे.

Ind vs NZ: मैनचेस्टर पर बारिश का साया, आज होगा वर्ल्ड कप का पहला सेमीफाइनल।

Ind vs NZ: मैनचेस्टर पर बारिश का साया, आज होगा वर्ल्ड कप का पहला सेमीफाइनल।

मैनचेस्टर के ओल्ड ट्रेफर्ड  में मंगलवार को भारत और न्यूजीलैंड के बीच पहला सेमीफाइनल मुकाबला होना है. इस मैच पर बारिश का खतरा मंडरा रहा है. टॉस के ठीक बाद बारिश का अनुमान जताया जा रहा है.

आईसीसी वर्ल्ड कप-2019 का पहले सेमीफाइनल मंगलवार को भारत-न्यूजीलैंड के बीच मैनचेस्टर में होना है. रिजर्व डे पर भी बारिश का साया है. अगर मंगलवार को दोनों टीमों के बीच बारिश के चलते मैच नहीं हो पाता है तो मैच रिजर्व डे के दिन यानी बुधवार को खेला जाएगा. अगर रिजर्व डे के दिन भी मैच बारिश से धुल जाता है तो लीग मैच के पॉइंट्स के आधार पर टीम इंडिया फाइनल में पहुंच जाएगी.

टॉस के बाद बारिश के आसार

एक्यूवेदर डॉट कॉम के मुताबिक, मैनचेस्टर में 9 व 10 जुलाई को बारिश की आशंका है. दोनों दिन आसमान में बादल छाए रहने का अनुमान है. साथ ही रुक-रुककर बारिश भी हो सकती है. ओल्ड ट्रेफर्ड में स्थानीय समयानुसार सुबह 10 बजे (भारतीय समयानुसार दोपहर 2:30 बजे) टॉस होना है, लेकिन यहां 9 जुलाई को स्थानीय समयानुसार सुबह 10 बजे बारिश होने 40% आशंका है. भारतीय समयानुसार 3.30 बजे बारिश 51%  होने की आशंका जताई गई है. ऐसे में टॉस भले ही बिना बारिश के हो जाए, लेकिन इसके बाद खेल में देरी हो सकती है.

 वर्ल्ड कप के पहले सेमीफाइनल में मंगलवार को भारत का मुकाबला न्यूजीलैंड से होगा। यह मैच मैनचेस्टर के ओल्ड ट्रैफर्ड में खेला जाएगा। टीम इंडिया की नजर चौथी बार फाइनल में जगह बनाने पर होगी। दूसरी ओर न्यूजीलैंड की टीम लगातार दूसरे वर्ल्ड कप में फाइनल खेलना चाहेगी। पिछले साल ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खिताबी मुकाबला हारने वाली कीवी टीम के लिए भारत को हराना आसान नहीं होगा। टीम इंडिया ने उसके खिलाफ पिछले 4 सालों में 69% वनडे जीते। दोनों टीमों के बीच 2015 वर्ल्ड कप के बाद से 13 मैच हुए। इनमें टीम इंडिया 9 में जीती। न्यूजीलैंड को 4 में ही सफलता मिली।

मैनचेस्टर में दोनों टीमें 44 साल बाद आमने-सामने होंगी। पिछली बार 1975 वर्ल्ड कप में न्यूजीलैंड ने भारत को 4 विकेट से हराया था। इसके बाद इंग्लैंड के मैदान पर दोनों टीमों के बीच दो और वनडे खेले गए। दोनों मुकाबलों में न्यूजीलैंड की टीम ही सफल रही। 1999 में नॉटिंघम में भारत 5 विकेट और 1979 में लीड्स के हेडिंग्ले में 8 विकेट से हारा था।

भारत अब तक सिर्फ 3 सेमीफाइनल हारा, जबकि न्यूजीलैंड ने 6 गंवाए
भारतीय टीम का वर्ल्ड कप इतिहास में यह 7वां सेमीफाइनल होगा। वह अब तक 3 बार जीती और 3 बार हारी। पिछले वर्ल्ड कप में उसे ऑस्ट्रेलिया ने सेमीफाइनल में हराकर खिताब जीतने से रोक दिया था। टीम इंडिया न्यूजीलैंड के खिलाफ पहली बार सेमीफाइनल खेलेगी। दूसरी ओर न्यूजीलैंड की टीम रिकॉर्ड 8वीं बार अंतिम-4 में खेल रही है, लेकिन यहां पर उसका रिकॉर्ड खराब है। उसे सिर्फ एक बार अब तक जीत मिली। 6 सेमीफाइनल में उसे हार का सामना करना पड़ा है।

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण आज 11 बजे बजट पेश करेंगी। यह मोदी सरकार 2.0 का पहला बजट है।

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण आज 11 बजे बजट पेश करेंगी। यह मोदी सरकार 2.0 का पहला बजट है।

बजट पेश करने से पहले राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से मिलने पहुंचीं निर्मला सीतारमन। निर्मला सीतारमण बजट को लाल रंग के कपड़े में लपेटकर क्यों लाईं इसकी वजह मुख्य आर्थिक सलाहकार केवी सुब्रमण्यन ने बताई। उन्होंने कहा, ‘यह भारतीय परंपरा है। यह पश्चिमी विचारों की गुलामी से निकलने का प्रतीक है। यह बजट नहीं बही खाता है।’ इस बार बजट की कॉपी कुछ अलग अंदाज में देखी गई। हर बार जहां यह बड़े ब्रीफकेस में होती थी, वहीं इसबार निर्मला इसे लाल रंग के मखमली कपड़े में लेकर मीडिया के सामने आईं। कपड़े के ऊपर भारत सरकार का चिह्न भी था।

वैश्विक स्तर पर नरमी और मॉनसून की चिंता के बीच वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण एनडीए सरकार के दूसरे कार्यकाल का पहला बजट शुक्रवार को पेश करेंगी। बजट में राजकोषीय घाटे को काबू में रखने के साथ आर्थिक वृद्धि तथा रोजगार सृजन को गति देने पर सरकार का जोर रह सकता है। देशभर की नजरें शुक्रवार को पेश होने वाले इस बजट पर हैं। आइए समझते हैं कि नई सरकार के पहले बजट में किन क्षेत्रों को महत्व दिया जा सकता है।

शेयर बाजार की बात करें तो बजट से पहले सेंसेक्स और निफ्टी मामलू बढ़त के साथ बंद हुए थे। इसमें सेंसेक्स पिछले सत्र के मुकाबले 68.81 अंकों यानी 0.17 फीसदी की बढ़त के साथ 39,908.06 पर और निफ्टी 30 अंकों यानी 0.25 फीसदी की बढ़त के साथ 11,946.75 पर रहा।

आर्थिक सर्वेक्षण में रिटायमेंट ऐज को बढ़ाने की भी सिफारिश हुई है। संसद में गुरुवार को पेश हुए आर्थिक सर्वे में कहा गया है कि भारत में महिला और पुरुषों की उम्र प्रत्याशा लगातार बढ़ रही है। अन्य देशों के अनुभवों के आधार पर पुरुषों और महिलाओं की रिटायरमेंट उम्र में बढ़ोतरी पर विचार किया जा सकता है।

आर्थिक सर्वेक्षण में ईमानदार टैक्सपेयर्स को सम्मानित करने का प्रस्ताव रखा गया है। इसमें देश के टॉप 10 टैक्सपेयर्स को ज्यादा टैक्स का रिवार्ड देने का प्रस्ताव। इसमें ईमानदार टैक्सपेयर्स के नाम पर स्मारकों, सड़कों, ट्रेनों, स्कूलों अस्पतालों और हवाई अड्डों के नाम रखने का प्रस्ताव दिया गया है।

आर्थिक सर्वे बजट से ठीक पहले देश की आर्थिक दशा की तस्वीर होती है। इसमें पिछले 12 महीने के दौरान देश में विकास का ट्रेंड क्या रहा, योजनाओं को किस तरह अमल में लाया गया, इस बारे में विस्तार से बताया जाता है।

गुरुवार को वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने राज्यसभा में इकॉनमी की हेल्थ रिपोर्ट यानी आर्थिक सर्वे पेश किया ।

यूनियन बजट के साथ-साथ आज रेल बजट भी पेश किया जाएगा। वित्त मंत्री ही इसे पेश करेंगी। 2017 में रेल बजट को आम बजट में शामिल किया गया था। इससे पहले रेल मंत्री आम बजट से एक दिन पहले रेलवे बजट संसद में पेश करते थे।

49 साल बाद आज बजट की कमान महिला के हाथ, इससे पहले 28 फरवरी 1970 को इंदिरा गांधी को यह मौका मिला था। बजट में नौकरीपेशा लोगों के लिए आयकर के मोर्चे पर टैक्स स्लैब में बदलाव की उम्मीद है। 2019-20 के अंतरिम बजट में 5 लाख रुपये तक की आय पर कर छूट देने की घोषणा की गई थी। मौजूदा वित्तीय वर्ष के लिए आर्थिक सर्वे में विकास दर का टारगेट 7% रखा गया है, जो पांच साल में सबसे कम रही पिछले साल की विकास दर (6.8 प्रतिशत) से ज्यादा है। इस वक्त देश के सामने कम विकास दर, वैश्विक सुस्ती और ट्रेड वॉर जैसी चुनौतियां हैं। सरकार टैक्स व्यवस्था बेहतर और कम ब्याज दर पर फोकस करके अर्थव्यवस्था को अगले स्तर पर ले जाने की कोशिश कर सकती है। गुरुवार को पेश हुए आर्थिक सर्वे से संकेत मिले हैं कि नए बजट में प्राइवेट निवेश की मदद से रोजगार पैदा किए जाएंगे। मोदी सरकार 2.0 आज अपना पहला बजट पेश करेगी। यह बजट वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण की अगुवाई में पेश किया जाएगा।

इंग्लैंड सेमीफाइनल में 27 साल बाद पहुंचा, पाकिस्तान का सेमीफाइनल पहुंचना नाममुकिन।

इंग्लैंड सेमीफाइनल में 27 साल बाद पहुंचा, पाकिस्तान का सेमीफाइनल पहुंचना नाममुकिन।

धवार को इंग्लैंड की न्यूजीलैंड पर 119 रन की बड़ी जीत के बावजूद पाकिस्तान की सेमीफाइनल में पहुंचने की राह आसान नहीं हुई। बल्कि अब उसके सामने असंभव-सी चुनौती है। दूसरी ओर, न्यूजीलैंड का हार के बावजूद सेमीफाइनल में पहुंचना तय है। एक आकलन के अनुसार पाकिस्तान को न्यूजीलैंड के मुकाबले नेट रनरेट सुधारने के लिए बांग्लादेश को करीब सवा तीन सौ रन से हराना होगा जो कि असंभव सा लगता है।

पहला गणित यह कि अगर पाकिस्तान 350 का स्कोर करता है तो उसे बांग्लादेश को 312 रनों से हराना होगा। दूसरा गणित यह है कि अगर पाकिस्तान 400 का आंकड़ा छूता है तो उसे बांग्लादेश को 316 रन के विशाल स्कोर से हराना होगा।

मतलब यह कि अगर पाकिस्तान पहले बल्लेबाजी करते हुए 400 रन बनाए तो उसे बांग्लादेश को 84 रन पर ऑलआउट करना होगा, जो कि असंभव है। यानी साफ है कि पाकिस्तान सेमीफाइनल में नहीं पहुंचेगा। साथ ही उसका वर्ल्ड कप 2019 से बाहर होना लगभग तय है।

बाद में खेले तो संभावना नहीं
दूसरी स्थिति में यदि पाकिस्तान की टीम बाद में बल्लेबाजी करती है तो उसकी आगे बढ़ने की कोई संभावना नहीं रहेगी। भले ही लक्ष्य एक रन का ही क्यों न हो।

वर्ल्ड कप के 41वें मुकाबले में खिताब की प्रबल दावेदार मानी जा रही इंग्लैंड की टीम ने न्यूजीलैंड को 119 रनों से करारी शिकस्त दी। इस जीत के साथ ही इंग्लैंड वर्ल्ड कप के सेमीफाइनल में पहुंचने वाली तीसरी टीम बन गई है। ऑस्ट्रेलिया और भारत पहले ही सेमीफाइनल में पहुंच चुके हैं। चौथे नंबर पर न्यूजीलैंड की टीम है, जो सेमीफाइनल में अपनी जगह पक्की कर सकती है। पाकिस्तान अब भी सेमीफाइनल की रेस में कायम है, लेकिन उसका रास्ता बहुत कठिन है।

जॉनी बेयरस्टो के लगातार दूसरे शतक के बाद गेंदबाजों के उम्दा प्रदर्शन की मदद से इंग्लैंड ने विश्व कप के अहम मुकाबले में न्यूजीलैंड को 119 रन से हराकर सेमीफाइनल में एंट्री ले ली है। इंग्लैंड के आठ विकेट पर 305 रन के जवाब में कीवी टीम 45 ओवर में 186 रन पर आउट हो गई। इंग्लैंड ने 1992 के बाद पहली बार विश्व कप सेमीफाइनल में जगह बनाई है जबकि ऑस्ट्रेलिया और भारत अंतिम चार में जगह बना चुके हैं।

पाकिस्तान का अगला मुकाबला बांग्लादेश से पांच जुलाई को होना है। अगर वह बांग्लादेश को हरा देता तो उसके 11 अंक हो जाएंगे। ऐसे में न्यूजीलैंड और पाकिस्तान के अंक बराबर हो जाएंगे। बराबर अंक होने की वजह से सेमीफाइनल का फैसला नेट रनरेट के आधार पर होगा।

CWC 2019 : वर्ल्ड कप के सेमीफाइनल में भारत लगातार तीसरी बार पहुंचा, बांग्लादेश को 28 रनों से हराया ।

CWC 2019 : वर्ल्ड कप के सेमीफाइनल में भारत लगातार तीसरी बार पहुंचा, बांग्लादेश को 28 रनों से हराया।

आईसीसी वर्ल्ड कप-2019 के 40वें मुकाबले में टीम इंडिया ने बांग्लादेश को 28 रनों से हरा दिया है. इसी के साथ भारत लगातार तीसरी बार वर्ल्ड कप फाइनल में पहुंच गया है. भारत ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 50 ओवर में 9 विकेट के नुकसान पर 314 रन बनाए. जवाब में बांग्लादेश की टीम 48 ओवर में 286 रन पर ऑल आउट हो गई.

भारत ने मंगलवार को एजबेस्टन मैदान पर खेले जा रहे आईसीसी विश्व कप-2019 के मैच में बांग्लादेश के सामने 315 रनों का लक्ष्य रखा. जवाब में बांग्लादेश की टीम 48 ओवर में 286 रन पर सिमट गई. इसी के साथ भारत लगातार तीसरी बार वर्ल्ड कप के सेमीफाइनल में प्रवेश कर चुका है.

भारत ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी की और रोहित शर्मा के शतक के अलावा लोकेश राहुल के अर्धशतक के दम पर 50 ओवरों में 9 विकेट खोकर 314 रनों का स्कोर खड़ा किया. रोहित ने इस वर्ल्ड कप में अपना चौथा शतक लगाया। वे एक वर्ल्ड कप में 4 शतक लगाने वाले पहले भारतीय बल्लेबाज हैं.उन्होंने सौरव गांगुली के 3 शतक का रिकॉर्ड तोड़ा। गांगुली ने 2003 में केन्या के खिलाफ 2 और नामीबिया के खिलाफ एक शतक लगाया था.

टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी भारत की सलामी जोड़ी ने बेहतरीन शुरुआत दी और 180 रनों की ओपनिंग साझेदारी की. इसके बाद रोहित शर्मा 104 रन बनाकर आउट हो गए. रोहित ने 92 गेंदों पर 7 चौके और 5 छक्कों की मदद से 104 रनों की पारी खेली. यह रोहित का इस विश्व कप में चौथा शतक है और वह इस विश्व कप में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज ही बन गए हैं. रोहित के अलावा केएल राहुल 77 रन बनाकर आउट हो गए. राहुल ने 92 गेंदों पर छह चौके और एक छक्के की मदद से 77 रन बनाए.

इन दोनों खिलाड़ियों के अलावा कोई भी खिलाड़ी 50 रन पूरे नहीं कर सका. ऋषभ पंत ने 48 और महेंद्र सिंह धोनी ने 35 रनों का योगदान दिया. बांग्लादेश के लिए मुस्ताफिजुर रहमान ने 5 विकेट अपने नाम किए.

विराट कोहली 26 रन, कार्तिक 8 रन, धोनी 35 रन और भुवनेश्वर ने 2 रन बनाए. धोनी की बल्लेबाजी एक बार फिर सवालों के घेरे में है. उन्होंने अंत के ओवरों में 33 गेंदों में 35 रनों की धीमी पारी खेली.

बांग्लादेश की शुरुआत खराब रही और 39 रन के स्कोर पर ही पहला विकेट गिर गया. इसके बाद पूरे मैच में भारतीय गेंदबाजों ने बांग्लादेश खेमे से बड़ी साझेदारी नहीं बनने दी.

इसी के साथ ही भारत ने सातवीं बार वर्ल्ड कप के सेमीफाइनल में जगह बना ली. इससे पहले भारत ने 1983, 1987, 1996, 2003, 2011 और 2015 वर्ल्ड कप के सेमीफाइनल में जगह बनाई थी. भारत लगातार तीसरी बार वर्ल्ड कप सेमीफाइनल में पहुंचा।

ICC Cricket World Cup

                               V/S                                     
India 314/9                                                  Bangladesh 286
(50.0 ov)                                                     (48.0 ov)

 

रोहित शर्मा   104 (92)                           शाकिब अल हसन 66 (74)
मुस्तफिजुर रहमान   5-59                     जसप्रीत बुमराह    4-55                                                                              
                                                                                                      
Translate »