Day: May 2, 2019

मसूद अजहर वैश्विक आतंकी घोषित, संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद ने मसूद अजहर को बताया वैश्विक आतंकी

मसूद अजहर वैश्विक आतंकी घोषित, संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद ने मसूद अजहर को बताया वैश्विक आंतकी

यूएनएससी में मसूद अजहर पर प्रतिबंध लगने के बाद विदेश मंत्रालय ने बुधवार को कहा कि आतंकी गुट जैश-ए-मोहम्मद सरगना मसूद अजहर के खिलाफ कार्रवाई भारत के रुख के अनुसार हुआ है. भारत द्वारा सुरक्षा परिषद की प्रतिबंध समिति के सदस्यों के साथ साझा की गई सूचनाओं के आधार पर ही यह कार्रवाई की गई है.मसूद अजहर पर वैश्विक आतंकवादी घोषित करने के मामले में चीन हमेशा से अडंगा डालता रहा है, लेकिन इस बार उसे अपनी हार माननी ही पड़ी.

आखिरकार मसूद अजहर को वैश्विक आतंकवादी घोषित कर दिया गया. लंबे समय से भारत इस कोशिश में था कि आतंकवादी संगठन जैश-ए-मोहम्मद (जेईएम) के प्रमुख मसूद अजहर को वैश्विक आतंकवादी घोषित किया जाए जिसमें शुरुआती कई नाकामियों के बाद भारत को उस समय कामयाबी मिली जब संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (यूएनएससी) ने बुधवार को वैश्विक आतंकवादी घोषित कर दिया. आइए, जानते हैं कि किन वजहों से चीन को झुकना पड़ा और भारत को यह बड़ी कामयाबी मिली.

भारत के लिए बड़ी कूटनीतिक विजय
भारत को उस समय बड़ी राजनयिक विजय हासिल हुई जब बुधवार को संयुक्त राष्ट्र प्रतिबंध समिति ने अजहर को वैश्विक आतंकवादी घोषित कर दिया। इससे पहले चीन ने उसे प्रतिबंधित करने वाले प्रस्ताव पर लगी रोक को हटा लिया.    अजहर पर प्रतिबंध लगने पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुये, पूर्व विदेश सचिव सलमान हैदर ने कहा कि वह इसे एक ‘‘पक्ष में उठे बहुत बड़े कदम” के रूप में देखते हैं.उन्होंने कहा कि भारत पिछले कुछ समय से इसकी कोशिश कर रहा था. चीन इसमें रोड़े अटका रहा था और भारत बार बार इसका प्रयास कर रहा था.पाकिस्तान में भारत के पूर्व उच्चायुक्त गोपालस्वामी पार्थसारथी इसे ‘‘बहुत बड़ी सफलता” के रूप में देखते हैं. उन्होंने कहा, “इससे पाकिस्तान निश्चित रूप से अलग-थलग पड़ेगा. यह सवाल भी है कि क्या (पाकिस्तानी) सेना आतंकवाद का राजकीय नीति के एक तंत्र को तौर पर इस्तेमाल करना बंद करेगी.”राजदूत विष्णु प्रकाश ने कहा है कि यह अच्छा कदम है लेकिन हमें बहुत खुश नहीं होना चाहिये क्योंकि वैश्विक आतंकवादी हाफिज सईद जैसे आतंकवादी खुले आम घूम रहे हैं.

Translate »