Month: April 2019

लोकसभा चुनाव 2019 /BSF से बर्खास्त जवान तेज बहादुर काशी से होंगे SP-BSP उम्मीदवार

 लोकसभा चुनाव 2019 / BSF से बर्खास्त जवान तेज बहादुर काशी से होंगे SP-BSP उम्मीदवार

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को उनके ही गढ़ वाराणसी में घेरने के लिए महागठबंधन ने बड़ा मास्टरस्ट्रोक चला है. समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी ने वाराणसी में अपनी उम्मीदवार शालिनी यादव को हटा, बीएसएफ के पूर्व जवान तेज बहादुर यादव को मैदान में उतारा है. तेज बहादुर यादव पहले प्रधानमंत्री के खिलाफ निर्दलीय चुनाव लड़ रहे थे.लेकिन सोमवार को तेज बहादुर यादव ने समाजवादी पार्टी के टिकट पर अपना नामांकन दाखिल किया. वह गठबंधन के उम्मीदवार होंगे.

आपको बता दें कि 2017 में बीएसएफ जवान तेज बहादुर यादव ने एक वीडियो जारी किया था, जिसमें उन्होंने जवानों को मिलने वाले खाने की क्वालिटी को लेकर शिकायत की थी. तभी से वह चर्चा में आए थे, हालांकि उस विवाद के बाद उन्हें बर्खास्त कर दिया गया था. तभी से वह केंद्र सरकार के खिलाफ आवाज उठाते रहे हैं.

बीते दिनों ही तेज बहादुर यादव ने ऐलान किया था वह भ्रष्टाचार के मुद्दे पर चुनाव लड़ रहे हैं. उन्होंने तब कहा था कि मैंने भ्रष्टाचार का मामला उठाया लेकिन मुझे बर्खास्त कर दिया गया. मेरा पहला उद्देश्य सुरक्षा बलों को मजबूत करना और भ्रष्टाचार खत्म करना होगा.

साफ है कि एक तरफ भारतीय जनता पार्टी राष्ट्रवाद के मुद्दे पर इस लोकसभा चुनाव में आगे बढ़ रही है, तो वहीं महागठबंधन ने अब उनके सामने एक पूर्व सैनिक को ही मैदान में उतार लड़ाई को दिलचस्प कर दिया है. हालांकि, क्या कांग्रेस तेज बहादुर यादव का समर्थन करेगी अभी इसकी पुष्टि नहीं की गई है.

अभी कुछ दिन पहले ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वाराणसी से अपना नामांकन किया था. पीएम ने वाराणसी में एक मेगा रोड शो किया था और अपनी ताकत का एहसास कराया था. उनके नामांकन के दौरान एनडीए के कई दिग्गज भी साथ रहे थे, जिसमें बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, अकाली दल के नेता प्रकाश सिंह बादल, शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे समेत कई अन्य नेता भी शामिल रहे थे.

2017 में जब तेज बहादुर ने वीडियो अपलोड किया था, तब वह जम्मू-कश्मीर में बॉर्डर के पास तैनात थे. उन्होंने सैनिकों को मिलने वाले खाने की क्वालिटी पर सवाल खड़े किए थे. लेकिन बीएसएफ ने उन्हें अनुशासनहीनता का आरोपी माना था और बाद में उन्हें बर्खास्त कर दिया था.

अब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ वाराणसी में सपा-बसपा-आप की तरफ से बीएसएफ के पूर्व जवान तेज बहादुर यादव, कांग्रेस की ओर से अजय राय चुनाव लड़ रहे हैं.

लोकसभा चुनाव चौथा चरण : आज नौ राज्यों की 72 सीटों पर वोट डाले जा रहे हैं।

लोकसभा चुनाव चौथा चरण : आज नौ राज्यों की 72 सीटों पर वोट डाले जा रहे हैं।

लोकसभा चुनाव के चौथे चरण के लिए वोटिंग शुरू हो गई है। आज नौ राज्यों की 72 सीटों पर वोट डाले जा रहे हैं। आपको बता दें कि जम्मू कश्मीर की अनंतनाग सीट पर तीन चरणों पर वोटिंग होनी है और आज भी उस सीट पर वोटिंग हो रही है। इसके साथ ही लोकसभा की 543 सीटों में से दो तिहाई (373) पर मतदान प्रक्रिया पूरी हो जाएगी। इस चरण के साथ ही राजस्थान, मध्यप्रदेश और झारखंड में मतदान की शुरुआत होगी। जेएनयू छात्र संघ के पूर्व अध्यक्ष कन्हैया कुमार, सपा प्रमुख अखिलेश यादव की पत्नी डिंपल यादव, पीडीपी प्रमुख महबूबा मुफ्ती, आरएलएसपी चीफ उपेंद्र कुशवाहा,  राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत के बेटे वैभव गहलोत और मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ के बेटे नकुलनाथ की सियासी किस्मत आज ईवीएम में कैद हो जाएगी। केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत एवं गिरिराज सिंह के राजनीतिक भाग्य का फैसला भी लोकसभा चुनाव के चौथे चरण के मतदान में ही होने वाला है।

इन क्षेत्रों में  12.79 करोड़ मतदाता अपने मताधिकार के प्रयोग करेंगे, जिनके लिए कुल  1.40 लाख मतदान केंद्र बनाए गए हैं।

9 राज्यों की इन 71 लोकसभा सीटों पर होगा मतदान

1-बिहार (5)– दरभंगा, उजियारपुर, समस्तीपुर, बेगुसराय और मुंगेर
2-राजस्थान (13)– सवाई माधोपुर, अजमेर, पाली, जोधपुर, बाड़मेर, जालोर, उदयपुर, बंसवाड़ा, चित्तौड़गढ़, राजसमंद, भिलवाड़ा, कोटा और झालावाड़-बारन
3-उत्तर प्रदेश (13)– शाहजहांपुर, खेरी, हरदोई, मिश्रिख, उन्नाव, फर्रुखाबाद, इटावा, कन्नौज, कानपुर, अकबरपुर, जालौन, झांसी और हमीरपुर।
4-झारखंड (3)– चतरा, लोहरदगा, पलामू
5-मध्य प्रदेश (6)-सिधी, शहडोल, जबलपुर, मांडला, बालाघाट और छिंदवाड़ा
6-महाराष्ट्र (17)– नांदूरबाड़, धुले,डिढोरी, नासिक, पालाघर, भिवंडी, कल्याण, ठाणे, मुंबई नॉर्थ, मुंबई नॉर्थ वेस्ट, मुंबई नॉर्थ ईस्ट, मुंबई नॉर्थ सेंट्रल, मुंबई साउथ सेंट्रल, मुंबई साउथ, मवाल, शिरूर और शिरडी।
7-ओडिशा (6)– मयूरभंज, बालासोर, भद्रक, जाजपुर, केन्द्रपाड़ा, जगतसिंहपुर
8-पश्चिम बंगाल (8)– बहरामपुर, कृष्णानगर, रानाघाट, बर्धमान पूर्व, बर्धमान दुर्गापुर, आसनसोल, बोलपुर और बीरभूम
9-जम्मू कश्मीर (1)– अंनतनाग के कुलगाम जिले में पड़ने वाली सीटें

उत्तर प्रदेश रिजल्ट 2019 : कक्षा 10 वीं, 12 वीं के रिजल्ट घोषित।

उत्तर प्रदेश रिजल्ट 2019 : कक्षा 10 वीं, 12 वीं के रिजल्ट घोषित।

यूपी बोर्ड रिजल्ट 2019 |  उत्तर प्रदेश मध्यम शिक्षा परिषद द्वारा घोषित UP 10th Result 2019, UP 12th Result 2019 को बोर्ड ऑफ हाई स्कूल और इंटरमीडिएट एजुकेशन उत्तर प्रदेश के नाम से भी जाना जाता है। उत्तर प्रदेश मध्यम शिक्षा परिषद या UPMSP ने आधिकारिक वेबसाइट upmspresults.up.nic.in और upresults.nic.in पर कक्षा 10 वीं और कक्षा 12 वीं के लिए यूपी बोर्ड परिणाम 2019 जारी किया। यूपीएमएसपी उत्तर प्रदेश मध्यमाक्ष शिक्षापरिषद ने कक्षा 10 और 12 के लिए यूपी बोर्ड परीक्षा आयोजित की।

यूपी 10 वीं बोर्ड परीक्षा 7 फरवरी – 28 फरवरी से आयोजित की गई थी। यूपी 12 वीं बोर्ड की परीक्षाएं 7 फरवरी – 2 मार्च से आयोजित की गई थीं। अगर आधिकारिक UPMSP बोर्ड की वेबसाइट लोड होने में समय लेती है, तो छात्र इन वेबसाइटों पर अपने यूपी बोर्ड कक्षा 10 वीं परिणाम 2019, यूपी बोर्ड कक्षा 12 वीं परिणाम 2019 की जांच कर सकते हैं: examresults.net, results.gov.in, indiaresults.com।

यूपी बोर्ड 12 वीं परिणाम 2019 के लिए

कुल उत्तीर्ण प्रतिशत: 70.06%

छात्रों की कुल संख्या: 28.63 लाख

टॉपर: गौतम रघुवंशी 97.93%  के साथ टॉप  किया

यूपी बोर्ड 10 वीं परिणाम 2019 के लिए

कुल उत्तीर्ण प्रतिशत: 80.07%

छात्रों की कुल संख्या: 22.73 लाख

टॉपर: तनुज तोमर 97.80% के साथ टॉप किया

रूस के राष्‍ट्रपति व्‍लादिमीर पुतिन से मिलने रूस पहुंचे उत्‍तर कोरियाई नेता किम जोंग उन।

रूस के राष्‍ट्रपति व्‍लादिमीर पुतिन से मिलने रूस पहुंचे उत्‍तर कोरियाई नेता किम जोंग उन।

रूस के व्‍लादिवोस्‍तोक शहर में रूसी राष्‍ट्रपति व्‍लादिमीर पुतिन और उत्‍तर कोरियाई नेता किम जोंग उन के बीच मुलाकात हुई। दोनों नेताओं ने एक दूसरे का अभिवादन किया। गुरुवार की सुबह रूसी राष्‍ट्रपति व्‍लादिमीर पुतिन उत्‍तर कोरिया के नेता किम जोंग-उन के साथ पहली शिखर वार्ता के लिए गुरुवार को व्‍लादिवोस्‍तोक पहुंचे। किम जोंग पहले ही कड़ी सुरक्षा के बीच ब्‍लादिवोस्‍तोक पहुंच चुके हैं। उनकी बख्‍तरबंद ट्रेन बुधवार को यहां पहुंची। दोनों नेता आज शहर के सुदूर एक द्वीप पर एक बैठक करेंगे। इस बैठक में उत्‍तर कोरिया के परमाणु कार्यक्रम के साथ क्षेत्रीय सामरिक सुरक्षा और अमेरिकी प्रतिबंधों पर चर्चा होने की उम्‍मीद है।

दोनों नेताओं की यह बैठक अहम मानी जा रही है। अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप और किम की वियतनाम शिखर वार्ता विफल रहने और अमेरिकी प्रतिबंधों के बीच दोनों नेताओं की यह बैठक हो रही है। हालांकि, उत्‍तर कोरिया और रूस के दोस्‍ताना और सहयोगी रिश्‍ते रहे हैं। ऐसे में उत्‍तर कोरिया एक उम्‍मीद के साथ इस बैठक में शामिल हो रहा है।

किम जोंग उन चीन के बाद रूस से अपने पुराने रिश्‍तों को दोबारा तरोताजा बनाने के लिए रूस पहुंचे हैं। पूरी दुनिया की निगाहें 25 अप्रैल को रूस के शहर व्लादिवोस्तोक पर टिकी हैं। यह देखना दिलचस्‍प होगा कि अमेरिकी प्रतिबंधों के बाद रूस किस तरह से अपने उत्‍तर कोरियाई दोस्‍त की मदद करता है। हालांकि, रूस पिछले कई सालों से उत्तरी कोरिया पर अपना परमाणु कार्यक्रम रोकने के लिए दबाव बनाता रहा है। रूस 2009 में इसके लिए हुई छह देशों अमेरिका, जापान, चीन, उत्तरी कोरिया और दक्षिण कोरिया की हुई बैठक में शामिल था।

गौरतलब है कि दोनों देशों के राष्‍ट्राध्‍यक्षों की यह मुलाकात आठ वर्ष बाद हो रही है। इससे पहले किम जोंग द्वितीय की रूसी प्रमुख दिमित्री मेदवेदेव से मुलाकात हुई थी। किम जोंग उन ने चीन की अपनी पहली यात्रा भी अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप से सिंगापुर में होने वाली मुलाकात से ठीक पहले की थी। इसके अलावा हनोई यात्रा से पहले भी उन्‍होंने चीन के राष्‍ट्रपति शी चिनफिन से मुलाकात की थी।

यूपी बोर्ड परिणाम 2019/ यूपी बोर्ड रिजल्ट 28 या 29 अप्रैल में जारी होने की संभावना

यूपी बोर्ड परिणाम 2019/ यूपी बोर्ड रिजल्ट 28 या 29 अप्रैल में जारी होने की संभावना

यूपी बोर्ड की हाईस्कूल और इंटरमीडिएट परीक्षा का परिणाम 28 या 29 अप्रैल को घोषित होने की संभावना है। सचिव नीना श्रीवास्तव अपनी टीम के साथ बुधवार की रात दिल्ली से गुरुवार को सुबह प्रयागराज आ चुकी हैं।

गुरुवार को वह बोर्ड मुख्यालय में रिजल्ट घोषित करने की तारीख जारी कर सकती हैं। सूत्रों के अनुसार उप मुख्यमंत्री और माध्यमिक शिक्षा मंत्री डॉ. दिनेश शर्मा से परिणाम जारी करने की हरी झंडी मिल चुकी है। परीक्षा दो मार्च को ही खत्म हो गई थी और मूल्यांकन 25 मार्च को पूरा हो गया था

30 अप्रैल से पहले परिणाम जारी होगा। पिछले साल 29 अप्रैल को परिणाम घोषित हुआ था। ऐसे में इस साल भी 29 को ही रिजल्ट घोषित होने की अधिक संभावना है। परीक्षा में शामिल 50 लाख से अधिक छात्र-छात्राएं परिणाम का बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं। बोर्ड सचिव नीना श्रीवास्तव 17 अप्रैल को ही दिल्ली रवाना हो गईं थीं। प्रयागराज, वाराणसी, मेरठ, बरेली और गोरखपुर क्षेत्रीय कार्यालयों के अपर सचिव भी दिल्ली पहुंचकर रिजल्ट को अंतिम रूप दे चुके हैं। परिणाम दो दिन पहले ही फाइनल हो चुका है।

 यूपी बोर्ड के परिणाम नीचे  दी गयी वेबसाइट पर देख  सकते है।

 upmsp.edu.in

अरुणाचल प्रदेश-नेपाल में भूकंप के झटके, रिक्टर पैमाने पर 6.1 रही तीव्रता।

अरुणाचल प्रदेश-नेपाल में भूकंप के झटके, रिक्टर पैमाने पर 6.1 रही तीव्रता।

अरुणाचल प्रदेश में बीती रात भूकंप के झटके महसूस किए गए। देर रात 1.45 बजे भूकंप की तीव्रता रिक्टर स्केल पर 6.1 दर्ज की गई। खबरों के मुताबिक भूकंप के झटके वेस्ट सियांग इलाके में महसूस किए गए। हालांकि भूकंप से किसी भी तरह के जान-माल के नुकसान की खबर अभी तक सामने नहीं आई है।

सिर्फ अरुणाचल में ही नहीं पड़ोसी देश नेपाल में भी भूकंप के हल्के झटके महसूस किए गए हैं। नेपाल में 11 मिनट के अंदर भूकंप के दो झटके महसूस किए गए। पहला झटका सुबह 6 बजकर 29 मिनट पर महसूस किया गया जिसकी तीव्रता 5.2 थी। अरुणाचल प्रदेश में करीब 1.45 मिनट पर भूकंप आया. बता दें कि अरुणाचल प्रदेश में करीब 1.2 मिलिनय लोग रहते हैं. तिब्बत के इलाकों में भी भूकंप के झटके महसूस किए गए हैं। वहीं, नेपाल की राजधानी तड़के भूकंप के तीन तेज झटके महसूस किए गए। पहला झटका काठमांडू में तड़के सुबह करीब 6.14 मिनट पर आया. उसके बाद 6.29 मिनट पर काठमांडू में इसकी तीव्रता 4.8 और 6.40 मिनट पर ढढिंग जिले में 5.2 और 4.3 रिक्टर स्केल रही। हालांकि, यहां से भी अभी तक किसी तरह की क्षति की खबर नहीं है।

दूसरी बार सुबह 6 बजकर 40 मिनट पर नेपाल की धरती हिली। इस बार तीव्रता 4.3 मापी गई। गनीमत रही कि इस दौरान नेपाल में किसी तरह के जानमाल के नुकसान की खबर नहीं है।

भूकंप का केन्द्र अलोंग के दक्षिण पूर्व में लगभग 40 किलोमीटर दूर था। राज्य की सरकारी वेबसाइट के अनुसार अरुणाचल प्रदेश भारत के कम आबादी वाले राज्यों में से है, फिर भी यहां पर 12 लाख से अधिक लोग रहते हैं। चीन की आधिकारिक समाचार एजेंसी ‘शिन्हुआ’ के अनुसार तिब्बत में भी भूकम्प के झटके महसूस किए गए, जो कि भारतीय राज्य से थोड़ी दूर ही स्थित है।

BJP में शामिल हुए सनी देओल को पंजाब के गुरदासपुर से दिया टिकट, किरण खेर चंडीगढ़ से उम्मीदवार

BJP में शामिल हुए सनी देओल को पंजाब के गुरदासपुर से दिया टिकट, किरण खेर चंडीगढ़ से उम्मीदवार

नई दिल्ली: BJP ने मंगलवार देर शाम पंजाब के तीन उम्मीदवारों की सूची जारी की. बीजेपी की इस सूची में पंजाब की तीन सीटों पर उम्मीदवार घोषित किए गए हैं. आज ही भारतीय जनता पार्टी का दामन थामने वाले सनी देओल को पंजाब के गुरदासपुर  से टिकट दिया गया है. वहीं, किरण खेर  को एक बार फिर चंडीगढ़ (Chandigarh) से मैदान में उतारा गया है. इसके अलावा होशियारपुर से सोम प्रकाश  को टिकट दिया गया है. भारतीय जनता पार्टी की यह 26वीं लिस्ट है. गुरदासपुर में सनी देओल का मुकाबला काग्रेस के सुनील जाखड़ से होगा. सुनील जाखड़ मौजूदा सांसद हैं और कांग्रेस के दिग्गज नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री बलराम जाखड़ के बेटे हैं. वहीं, चंडीगढ़ में किरण खेर की भिड़ंत कांग्रेस के पवन कुमार बंसल से होगा.

बता दें कि बीजेपी के दिग्गज नेताओं की मौजूदगी में सनी देओल मंगलवार को ही भारतीय जनता पार्टी में शामिल हुए थे. बीजेपी मुख्यालय में इस दौरान रक्षामंत्री निर्मला सीतारमण, पीयूष गोयल समेत कई नेता मौजूद थे. पीयूष गोयल ने सनी देओल को बीजेपी की सदस्यता दिलाई. बता दें कि दो दिन पहले ही बीजेपी के अध्यक्ष अमित शाह और सनी देओल के बीच में मुलाकात हुई थी, जिसके बाद जोर पकड़ लिया था कि सनी देओल बीजेपी में शामिल होने वाले हैं.

उन्हें सदस्यता ग्रहण करवाते हुए पीयूष गोयल ने कहा, “उन्होंने अपनी फ़िल्मों से हमेशा सुरक्षा बलों का मनोबल बढ़ाया. ऐसे टेंशन वाले माहौल में देश के युवा-युवतियों को प्रेरणा देने का काम सनी देओल ने फिल्मों के माध्यम से किया है, मुझे विश्वास है कि राजनीतिक जीवन में भी वो ऐसे ही काम करेंगे.”

इस दौरान सनी देओल ने कहा कि जिस तरह से मेरे पापा इस परिवार के साथ जुड़े थे. उन्होंने अटल जी के साथ काम किया. आज मैं मोदी जी के साथ जुड़ रहा हूं, मैं मोदी जी से जुड़ने आया हूं. आज मोदी जी ने जिस तरह से पाचं सालों में काम किया है, इसलिए मैं चाहता हूं कि अगले पांच साल तक मोदी जी ही पीएम रहें. क्योंकि हम विकास चाहते हैं. मैं इस परिवार की सेवा करूंगा.”

श्रीलंका में रविवार को 8 बम धमाके 215 लोगों की मौत, 450 से ज्‍यादा लोग घायल। 

श्रीलंका में रविवार को 8 बम धमाके 215 लोगों की मौत, 450 से ज्‍यादा लोग घायल।

श्रीलंका में रविवार को चर्च और फाइव स्टार होटलों को निशाना बनाकर किए गए सिलसिलेवार 8 बम धमाकों ने पूरी दुनिया को हिलाकर रख दिया है।  इन धमाकों में अब तक कम से कम 215 लोगों की मौत हो गई है, जबक‍ि 450 से ज्‍यादा लोग घायल हैं।  अब तक 13आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।  सरकार ने कहा है कि ज़्यादातर धमाके आत्मघाती थे. मरने वालों में भारतीय और पाकिस्तानी समेत कुल 35 विदेशी नागरिक भी हैं।  धमाके में एक भारतीय नागरिक की मौत हो गई है। ये केरल की रहने वाली थी। हालांकि अभी तक किसी संगठन ने इस हमले की जिम्मेदारी नहीं ली है। लेकिन इस हमले के लिए श्रीलंका की पुलिस के शक की सुई वहां के चरमपंथी इस्लामिक संगठन नैशनल तौहीद जमात (एनटीजे) पर टिकी है

कट्टरपंथी इस्लामी संगठन
एनटीजी (नैशनल तौहीद जमात) श्रीलंका का एक चरमपंथी इस्लामिक संगठन है। इसे तौहीद-ए-जमात के नाम से भी जाना जाता है। इस संगठन पर श्रीलंका में वहाबी विचारधारा को बढ़ाने का आरोप है। इस संगठन का प्रभाव श्रीलंका के पूर्वी प्रांत में ज्यादा देखा गया है। यह संगठन देश के कई हिस्सों में महिलाओं के लिए बुर्का और मस्जिदों के निर्माण के साथ शरीया कानून को आगे बढ़ाने में लगा है।

मूर्ति तोड़ बटोरी थी सुर्खियां
श्रीलंका के इस कट्टरपंथी संगठन ने साल 2014 में भगवान बुद्ध की मूर्तियों को तोड़कर सबसे ज्यादा सुर्खियां बटौरी थी। इसे लेकर श्रीलंका में कई जगह इस संगठन का विरोध भी हुआ था। करीब एक दशक पहले श्रीलंका में बौद्ध सिंहली और हिंदू तमिल के बीच तनाव की स्थिति थी. इस गृह युद्ध में करीब एक लाख लोग मारे गए. तत्कालीन प्रधानमंत्री महिंदा राजपक्षे ने 2009 में एलटीटीई को खत्म कर दिया. लेकिन तब से लेकर अब तक दोनों समूहों में लगातार तनाव बना रहा है. पिछले साल फरवरी में श्रीलंका में मुस्लिम-विरोधी दंगे भी हुए थे. उस वक्त मस्जिदों पर हमले हुए थे और बदले में बौद्ध मंदिरों और सिंहलियों पर हमले किए गए

श्रीलंका के मुस्लिम काउंसिल के हिल्मे अहमद ने कहा, ‘हमारा विश्वास हिल गया है. ज्यादातर मुस्लिम किसी प्रकार की हिंसा का समर्थन नहीं करते. यहां तक कि जब वे उत्तरी क्षेत्र से निकाले गए थे और सारी परेशानियों को सहने के बावजूद भी उन्होंने हिंसा का सहारा नहीं लिया. अब सालों बाद इस तरह की हिंसक घटना हुई है। ‘हमें मुस्लिम समुदाय में विश्वास बनाए रखने के लिए हर संभव कोशिश करनी चाहिए। ”

अहमद ने कहा, ‘मुस्लिम इस डर में जी रहे हैं कि इस सीरियल ब्लास्ट के बाद मुस्लिमों के खिलाफ किसी तरह की कोई हिंसक प्रतिक्रिया न हो । उन्होंने ये भी कहा, ‘तीन साल पहले ही मैंने इस संगठन के बारे में श्रीलंका की सरकार को बताया थ।  इसलिए नहीं कि मुझे ऐसी किसी घटना की जानकारी थी बल्कि इसलिए कि तमाम सोशल मीडिया साइट्स के ज़रिए यह संगठन तनाव का माहौल पैदा करने की कोशिश कर रहा था।  हालांकि, जिस स्तर की हिंसा उसके द्वारा की गई है उसकी किसी ने उम्मीद भी नहीं की थी। ‘नाम ज़ाहिर न किए जाने की शर्त पर एक दूसरे शख्स ने बताया, ‘हम लोग डरे हुए हैं हम इस वक्त सिर्फ प्रार्थना ही कर सकते हैं. पिछले एक दशक से देश में शांति थी।  हम लोग अब फिर से किसी तरह की हिंसा नहीं चाहते। ‘

लोकसभा चुनाव के तीसरा चरण / 15 राज्यों की 117 लोकसभा सीटों पर आज (23 अप्रैल)  होगा मतदान।

लोकसभा चुनाव के तीसरे चरण/ 15 राज्यों की 117 लोकसभा सीटों पर आज  (23 अप्रैल) होगा मतदान।

5 राज्यों की 117 लोकसभा सीटों पर 23 अप्रैल को मतदान होगा. उत्तर प्रदेश की 10 सीटों पर 23 अप्रैल को होने वाला मतदान सपा संस्थापक मुलायम सिंह यादव समेत कई दिग्गज नेताओं का सियासी भाग्य तय करेगा. राज्य के मुख्य निर्वाचन अधिकारी एल. वेंकटेश्वर लू ने बताया कि तीसरे चरण में प्रदेश की कुल 10 लोकसभा सीटों, मुरादाबाद, रामपुर, सम्भल, फिरोजाबाद, मैनपुरी, एटा, बदायूं, आंवला, बरेली और पीलीभीत – के लिये मंगलवार को मतदान होगा. उल्लेखनीय कि वर्ष 2014 में इनमें से सात सीटें भाजपा ने जीती थीं. मैनपुरी, बदायूं और फिरोजाबाद सीटें सपा के खाते में गयी थी.  तीसरे चरण में 95.5 लाख पुरुषों और 80.9 लाख महिलाओं समेत कुल एक करोड़ 76 लाख मतदाता कुल 120 प्रत्याशियों में से अपने प्रतिनिधि चुनेंगे.  इस चरण के लिये कुल 12,128 मतदान केन्द्र तथा 20,116 मतदेय स्थल बनाये गये हैं. तीसरे चरण में सपा संस्थापक मुलायम सिंह यादव (मैनपुरी) के साथ—साथ आजम खां (रामपुर), उनकी प्रतिद्वंद्वी जया प्रदा, शिवपाल सिंह यादव (फिरोजाबाद), वरुण गांधी (पीलीभीत) और संतोष गंगवार (बरेली) जैसे दिग्गज नेताओं की प्रतिष्ठा दांव पर है.  मैनपुरी में अपना ‘आखिरी’ चुनाव लड़ रहे मुलायम सिंह यादव का मुकाबला भाजपा उम्मीदवार प्रेम सिंह शाक्य से है.

साल 2014 में सुलतानपुर से सांसद चुने गये वरुण गांधी इस बार पीलीभीत से भाजपा के प्रत्याशी हैं. उनका मुख्य मुकाबला गठबंधन प्रत्याशी पूर्व मंत्री हेमराज वर्मा से है. कांग्रेस ने यह सीट गठजोड़ के तहत ‘अपना दल′ को दी है, जिसने सुरेन्द्र गुप्ता को मैदान में उतारा है. बदायूं में मौजूदा सपा सांसद धर्मेन्द्र यादव का मुख्य मुकाबला राज्य के श्रम मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य की बेटी एवं भाजपा प्रत्याशी संघमित्रा मौर्य से है. कांग्रेस की ओर से पांच बार के सांसद पूर्व केन्द्रीय मंत्री सलीम शेरवानी भी चुनाव मैदान में हैं. सम्भल में गठबंधन प्रत्याशी एवं पूर्व सांसद शफीकुर्रहमान बर्क़, भाजपा प्रत्याशी परमेश्वर लाल सैनी और कांग्रेस उम्मीदवार एवं पूर्व विधायक मेजर जगतपाल सिंह के बीच मुख्य मुकाबला है. एटा में प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह के बेटे एवं मौजूदा सांसद, भाजपा प्रत्याशी राजवीर सिंह को गठबंधन प्रत्याशी एवं दो बार के सांसद देवेन्द्र सिंह यादव और कांग्रेस उम्मीदवार पूर्व मंत्री सूरज सिंह शाक्य चुनौती दे रहे  हैं सुबह 7 बजे से शाम 6 बजे मतदान होगा

तीसरे चरण में (lok sabha election phase 3 voting) कहां और किन सीटों पर होगा चुनाव 
छत्तीसगढ़ : रायपुर, सरगुजा, जांजगीर-चंपा, कोरबा, बिलासपुर, दुर्ग
बिहार : खगड़िया, झंझारपुर, सुपौल, अररिया, मधेपुरा
उत्तर प्रदेश : मुरादाबाद, रामपुर, संभल, फिरोजाबाद, मैनपुरी, एटा, बदायूं, आंवला, बरेली, पीलीभीत
महाराष्ट्र : जलगांव, रावेर, जालना, औरंगाबाद, रायगढ़, पुणे, बारामती, अहमदनगर, मढ़ा, सांगली, सातारा, रत्नागिरी-सिंधुदुर्ग, कोल्हापुर, हटकानांगले
असम : धुबड़ी, कोकराझार, बारपेटा, गुवाहाटी
जम्मू-कश्मीर : अनंतनाग (सिर्फ अनंतनाग जिले में वोटिंग)
कर्नाटक : चिक्कोडी, बेलगांव, बगलकोट, बीजापुर, गुलबर्गा, रायचूर, बीदर, कोप्पल, बेल्लारी, हावेरी, धारवाड़ा, उत्तर कन्नड़, दावणगेरे, शिमोगा
ओडिशा : संबलपुर, क्योंझर, ढेंकानाल, कटक, पुरी, भुवनेश्वर
बंगाल : बालुरघाट, मालदा उत्तर, मालदा दक्षिण, जंगीपुर, मुर्शिदाबाद.

RCB vs CSK: रोमांच के चरम पर चूक गया धोनी का धाकड़ प्रयास, चेन्नई की 1 रन से हार |

RCB vs CSK: रोमांच के चरम पर चूक गया धोनी का धाकड़ प्रयास, चेन्नई की 1 रन से हार |

बेंगलोर के एम.चिन्नास्वामी में इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल)-12 के रविवार के दूसरे मुकाबले में रोमांच के एकदम चरम पर पहुंचे मुकाबले में रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर ने चेन्नई को एक रन से हरा दिया. और इसी के साथ ही कप्तान धोनी (नाबाद 84 रन, 48 गेंद, 5 चौके, 7 छक्के) का एक बहुत ही बेहतरीन प्रयास बेकार चला गया, जो आने वाले दिनों बहुत ही लंबे समय तक याद किया जाएगा. बेंगलोर से मिले 162 रन के चेलैंज के जवाब में चेन्नई करीब-करीब मैच से तभी बाहर होता दिखाई पड़ा, जब उसने अपने चार टॉप बल्लेबाज पावर-प्ले खत्म होने से पहले ही गंवा दिए.

ऐसे आड़े समय में धोनी ने एक छोर पर चेन्नई के स्कोर को शुरू में लगातार आगे बढ़ाना जारी रखा. इस दौरान विकेट भी गिरते रहे. एक समय चेन्नई को जीतने के लिए आखिरी 2 ओवर में 36 और आखिरी ओवर में 26 रन बनाने थे. और उमेश यादव के फेंके आखिरी ओवर में धोनी ने दिखाया कि वह इस उम्र में भी कितने धाकड़ बल्लेबाज हैं. धोनी ने इस ओवर में तीन छक्के और चौका जड़ा, लेकिन जब आखिरी गेंद पर चेन्नई को जीतने के लिए दो रन की दरकार थी, तो माही के बल्ले से सबसे चरम के मौके पर एक रन नहीं निकल सका.

बाई का रन लेने की कोशिश में शार्दुल ठाकुर रन आउट हो गए. अगर यह रन पूरा हो जाता, तो मैच टाई हो जाता और मुकाबला सुपर ओवर में जाता, लेकिन ऐसा नहीं ही हुआ और चेन्नई एक रन से मुकाबला हार गया. चेन्नई कोटे के 20 ओवर में 8 विकेट पर 160 रन ही बना सका. पार्थिव पटेल मैन ऑफ द मैच रहे.

बता दें कि बेंगलुरु में खेले गए आइपीएल 2019 के 39वें मुकाबले में धौनी अनहोनी को होनी करने में एक रन से चूक गए। इस आइपीएल में चेन्नई की लगातार दूसरी हार है। हार के बावजूद चेन्नई अभी अंक तालिका में एक नंबर पर काबिज है। बैंगलोर की इस सीजन की तीसरी जीत है, जिसके बाद उसके छह अंक हो गए हैं। बैंगलोर को अभी चार मैच और खेलने हैं, अगर वे सारे मैच जीतते हैं, तो प्ले ऑफ में पहुंचने की कुछ उम्मीद कर सकते हैं।

Summary of match

RCB VS CSK

RCB – 161/7 (20 Over) [P.Patel 53(37)]

CSK- 160/8 (20Over) [M.s Dhoni 84(48)]

Translate »