Day: December 19, 2018

सुषमा से मिलकर भावुक हुए हामिद, पाक की जेल में 6 साल बिताकर कल पहुंचे थे भारत

नई दिल्ली. पाकिस्तान की जेल में 6 साल कैद रहे हामिद निहाल अंसारी (33) ने बुधवार को विदेश मंत्री सुषमा स्वराज से मुलाकात की। इस दौरान वह भावुक हो गए। हामिद के साथ उनके माता-पिता भी थे। उन्होंने बेटे की वतन वापसी के लिए विदेश मंत्री का शुक्रिया जताया। मंगलवार को हामिद को वाघा बॉर्डर से लाने के लिए माता-पिता और भाई पहुंचे थे।

हामिद पाकिस्तानी लड़की से फेसबुक के जरिए हुई मोहब्बत के बाद अवैध रूप से सरहद पार करके पाकिस्तान पहुंचे थे। उन्हें 2012 में गिरफ्तार किया गया था। पाकिस्तान सैन्य अदालत ने फर्जी पाकिस्तानी पहचान पत्र रखने के आरोप में 15 दिसंबर 2015 को हामिद को तीन साल कैद की सजा सुनाई थी।

पाक में गर्लफ्रेंड ने रुकने का इंतजाम किया था
काबुल से नौकरी का ऑफर आने की बात कहकर हामिद नवंबर 2012 में मुंबई से अफगानिस्तान गया था। इसके बाद वह फर्जी पहचान पत्र दिखाकर पाकिस्तान पहुंचा और एक लॉज में रुका। उसकी गर्लफ्रेंड ने ही उसके रुकने का इंतजाम किया था। 12 नवंबर को भारतीय जासूस होने के आरोप में हामिद को इसी लॉज से गिरफ्तार किया गया। जांच में पता चला कि फर्जी पहचान पत्र उन्हें पाकिस्तानी गर्लफ्रेंड ने ही भेजा था।

हाईकोर्ट ने भी खारिज की थी याचिका
सेना की कोर्ट के फैसले के खिलाफ हामिद ने वहां की हाईकोर्ट में याचिका दायर कर खुद को बेकसूर बताया था। अगस्त 2018 में कोर्ट ने हामिद की याचिका खारिज कर दी थी। दरअसल, गृह मंत्रालय ने कोर्ट को भरोसा दिलाया था कि उन्हें 15 दिसंबर को रिहा कर दिया जाएगा।

इंडस्ट्री में काम न मिलने से गायक सोनू निगम नाराज, कहा- काश! पाकिस्तान में पैदा हुआ होता

मुंबई. सोनू निगम ने म्यूजिक इंडस्ट्री में काम के तौर-तरीकों पर सवाल उठाते हुए विवादास्पद बयान दिया। एक चैनल से बातचीत में उन्होंने कहा कि गाना गाने के लिए म्युजिक कंपनियों को पैसे देने पड़ते हैं, जबकि दूसरे देशों में ऐसा नहीं है। अगर पाकिस्तान में पैदा हुआ होता, कम से कम यहां काम के ऑफर तो मिल रहे होते। इसके बाद सोशल मीडिया पर यूजर्स ने उनकी खिंचाई की। कुछ लोगों ने सोनू को देश छोड़ने तक की सलाह दे दी।

सोनू ने कहा, ‘”कभी-कभी लगता है कि अच्छा होता मैं पाकिस्तान में पैदा होता तो भारत में अच्छा काम मिल रहा होता। क्योंकि, फिलहाल भारतीय सिंगर म्यूजिक कंपनी को शो के लिए पैसा देते हैं। अगर ऐसा नहीं करेंगे तो वो आपका गाना नहीं बजाएंगे और आपको गाना भी नहीं दिलवाएंगे। किसी के साथ ऐसा नहीं करना चाहिए, फिर आप भारतीय गायकों के साथ ऐसा क्यों।

सोनू ने पाकिस्तानी गायकों का जिक्र करते कहा, ‘”आतिफ असलम छोटे भाई जैसा है। बहुत अच्छा गाता है, लेकिन उसे पैसे नहीं देने पड़ते हैं। राहत अली को नहीं बोलते कि आओ और पैसे दो। सिर्फ अपने वालों को बोलेंगे। मैं नाम गिनवा सकता हूं। कंपनियों ने लीगल कॉन्ट्रेक्ट करा रखा है। इसी वजह से लगता है कि काश मैं पाकिस्तान में पैदा हुआ होता।”

सोनू ने कहा कि पहले म्यूजिक कंपोजर गाना बनाते थे। अब कंपनी अपने हिसाब से गाना बनाती हैं। बॉलीवुड में रीमिक्स के चलन पर उन्होंने कहा कि ऐसे गाने हिट हो जाते हैं और पैसे भी कमा लेते हैं, पर लोग इन्हें लंबे वक्त तक याद नहीं रखते। माहौल ऐसा है कि आज गाने फिल्म के प्रमोशन के लिए बन रहे हैं।

सोनू निगम के बयान पर सोशल मीडिया यूजर्स ने नाराजगी जाहिर की है। कुछ लोग उन्हें ट्रोल करते हुए पाकिस्तान जाने की सलाह दे रहे हैं। साथ ही लोगों ने फिल्म इंडस्ट्री से पूछा कि आखिर एक नामी भारतीय गायक को ऐसा क्यों कहना पड़ा।

संचार उपग्रह जीसैट-7ए की लॉन्चिंग आज, वायुसेना के लिए होगा मददगार

चेन्नई. भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) आज शाम 4:10 बजे संचार उपग्रह जीसैट-7ए लॉन्च करेगा। 2250 किलोग्राम वजनी यह सैटेलाइट भारतीय क्षेत्र में केयू-बैंड के उपभोक्ताओं को संचार क्षमताएं मुहैया कराएगा। इससे खासतौर पर वायुसेना को संपर्क बेहतर बनाने में मदद मिलेगी।

सैट-7ए को श्रीहरिकोटा स्थित स्पेसपोर्ट के दूसरे लाॅन्च पैड से जीएसएलवी-एफ11 के जरिए लॉन्च किया जाएगा। यह सैटेलाइट इसरो ने ही तैयार किया है। यह आठ साल तक सेवाएं दे सकता है

यह सैटेलाइट वायुसेना के विमान, हवा में मौजूद अर्ली वार्निंग कंट्रोल प्लेटफॉर्म, ड्रोन और ग्राउंड स्टेशनों को जोड़ देगा। इससे एक केंद्रीकृत नेटवर्क तैयार हो जाएगा।

285 करोड़ रुपए की संपत्ति के लिए मृत मां को जिंदा बताया, पति-पत्नी और बेटा गिरफ्तार

नोएडा. मुंबई में रहने वाले एक व्यक्ति सुनील, पत्नी राधा और बेटे अभिषेक को नोएडा पुलिस ने गिरफ्तार किया गया है। आरोपी के भाई ने धोखाधड़ी की शिकायत दर्ज कराई थी। यह भी कहा था आरोपी ने 285 करोड़ रुपए की प्रॉपर्टी के लिए दस्तावेजों में मृत मां को जिंदा बता दिया। तीनों आरोपियों को 15 दिसंबर को मुंबई के पवई स्थित हीरानंदानी गार्डन से अरेस्ट किया गया था।

विजय गुप्ता ने नोएडा के सेक्टर-20 में अपने बड़े भाई सुनील, भाभी, उनके दो बेटों और पांच अन्य के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई। केस पांच साल पुराना है।

थाना प्रभारी मनोज कुमार पंत के मुताबिक- “मां के निधन के बाद सुनील गुप्ता ने फर्जी दस्तावेज बनवाए, जिसमें उन्हें (मां) जिंदा दिखाया गया। इसके बाद सुनील ने धोखे से प्रॉपर्टी को अपने और परिवार के नाम करा लिया। इसके चलते शिकायतकर्ता को 285 करोड़ का नुकसान हुआ।”

सुनील की मां कमलेश रानी का निधन 7 मार्च 2011 को हो गया था। उनकी संपत्ति 285 करोड़ रुपए की है जिसमें मुंबई में एक मोमबत्ती बनाने की फैक्ट्री भी शामिल है। फैक्ट्री का एक ऑफिस नोएडा में भी है।

कमलेश रानी ने अपनी वसीयत में लिखा था कि मरने के बाद उनके बेटों में यह जायदाद बांट दी जाए। विजय गुप्ता ने जिला कोर्ट में अपने बड़े भाई पर आरोप लगाया कि उसने गलत दस्तावेज बनवाए और कंपनी पर कब्जा कर लिया, जबकि कंपनी में वह भी पार्टनर था

अफसर के मुताबिक- “सुनील ने मुंबई स्थित रजिस्ट्रार ऑफिस में पेश दस्तावेजों में बताया कि मोमबत्ती बनाने वाली कंपनी उसे मां से तोहफे के रूप में मिली है। इसकी वसीयत (गिफ्ट डीड) भी कराई जा चुकी है। नियम के मुताबिक गिफ्ट डीड किसी मृत व्यक्ति के नाम से नहीं बनवाई जा सकती। डीड में मृत मां को जिंदा बताया गया था।’

 

Translate »