Day: November 27, 2018

“सम्राट अशोक क्लब ने मनाया अखण्ड भारत महोत्व”

‘ भारत को मत बर्बाद करो, भारतीय संविधान और राष्ट्रीय प्रतीकों को याद करों।’

“भारत की है क्या पहचान, अशोक स्तम्भ और चक्र निशान ऐसे अनेक नारों एवं जयघोष के साथ सम्राट अशोक क्लब” की प्रान्तीय शाखा उ0प्र0 में दिनांक 26-11-2018 दिन सोमवार को संविधान दिवस के अवसर पर अखण्ड भारत महोत्सव मनाया। गया। कार्यक्रम का शुभारम्भ जीoपी0ओ0 पार्क में स्थित शहीद स्तम्भ पर शहीदों के सम्मान में दीप जलाकर किया गया। इसके साथ ही हजरतगंज चौराहे पर स्थित डा0 अम्बेडकर की प्रतिमा पर माल्यार्पण के बाद महात्मा गांधी की मूर्ति पर माल्यार्पण और सरदार बल्लभ भाई पटेल की मूर्ति पर माल्यार्पण किया गया। तत्पश्चात् राष्ट्रीय प्रतीकों की भव्य झांकी तिरंगे के साथ विजयी विश्व तिरंगा प्यारा, झण्डा ऊँचा रहे। हमारा” राष्ट्रीय गीत गाते हुए जीoपी0ओ0 पार्क से चलकर बापू भवन-बीoएन0 रोड होते हुए कैसरबाग चौराहे पर स्थित राष्ट्रीय प्रतीक चिन्ह “अशोक स्तम्भ’ पर दीप जलाया गया। इसके बाद परिवर्तन चौक होते हुए गाँधी भवन प्रेक्षागृह तक देश के कोने-कोने से आये अनेक गणमान्य व्यक्तियों, आम जनमानस एवं क्लब के कार्यकर्ताओं ने शामिल होकर राष्ट्रीय प्रतीकों एवं शहीदों के सम्मान में मार्च निकाला। गांधी भवन प्रेक्षागृह में भारत का राष्ट्रीय धर्म ग्रन्थ भारतीय संविधान एवं संविधान में राष्ट्रीय प्रतीकों का महत्व विषय पर चर्चा की गयी, जिसका शुभारम्भ मुख्य अतिथि मा0 स्वामी प्रसाद मौर्य जी (केबिनेट मंत्री उ0प्र0 सरकार) ने अन्य अतिथियों संग राष्ट्रीय प्रतीकों एवं भारतीय संविधान के सम्मान में दीप जलाकर की।

। मुख्य अतिथि मा0 स्वामी प्रसाद मौर्य जी (कैबिनेट मंत्री उ0प्र0 सरकार) ने अपने वक्तत्व में क्लब की प्रशंसा करते हुए कहा कि अपने देश की राष्ट्रीय एकता, अखण्डता, सर्वधर्म सम्भाव, सौहार्द एवं समृद्धि के लिये राष्ट्रीय ध्वज, राष्ट्रीय धर्मग्रन्थ, भारतीय संविधान एवं समस्त राष्ट्रीय प्रतीकों का सम्मान व जागरूकता प्रत्येक भारतीय का नैतिक कर्तव्य है। यह बहुत ही अच्छा प्रयास है इससे हम विभिन्न वर्गों को एक साथ लाकर भारत को और मजबूत कर सकते है।

। विशिष्ट अतिथि पूर्व जिला जज मा0 पी0के0 कटियार ने कहा कि राष्ट्रीय प्रतीकों को आवाम तक ले जाना और उनके लिये आवाम में जागरूकता का पैगाम देना उनकी शान की पहचान कराना, बहुत पाकिजा काम है, इस बारे में जो काम कर रहा है बहुत काबिले तारीफ है।

अतिथि डा0 दीनानाथ मौर्य ने कहा कि राष्ट्रीय प्रतीकों एवं संविधान के बारे में बच्चों एवं नागरिकों को शुरूआत से ही जानना चाहिए। क्लब की इस सराहनीय कार्य के लिये मेरा पूरा समर्थन है।

अतिथि सत्यनारायण मौर्य ने कहा कि राष्ट्र की एकता और अखण्डता को बनाये रखने के लिये लोगों की आस्था को राष्ट्रीय प्रतीकों की ओर मोड़ना होगा। तभी राष्ट्रीय एकता, अखण्डता व समता का निर्माण हो सकेगा और एक लोक कल्याणकारी राज्य की स्थापना हो सकेगी।

क्लब के राष्ट्रीय प्रवक्ता डा0 सच्चिदानन्द मौर्य ने विषय पर अपना वक्तव्य देते हुए कहा कि पूरे देश में विषमता वादियों के द्वारा असहिष्णुता का वातावरण बनाने का प्रयास करते हुए असंयमित बयानबाजी कर भारतीय संविधान का उल्लंघन कर सामाजिक सौहार्द बिगाड़ने का प्रयास किया जा रहा है, जो भारत के वर्तमान एवं भविष्य के लिये ठीक नहीं है और उन्होंने कहा कि इस देश का कितना दुर्भाग्य है कि राष्ट्रीय ध्वज में अशोक चक्र को अपना लिया गया, परन्तु सम्राट अशोक महान के चरित्र को नहीं अपनाया, तो भारत लोक कल्याणकारी राष्ट्र कैसे बनेगा।

अतिथि डा0 रविन्द्र कुशवाहा ने कहा कि क्लब के कार्यकर्ताओं से राष्ट्र, राष्ट्रीय प्रतीकों एवं भारतीय संविधान के प्रति गांव-गांव, शहर-शहर जाकर जनता को जागरूक करने की अपील की ओर आम जनमानस से कहा कि जहां भी आपको राष्ट्र एवं राष्ट्रीय प्रतीकों का अपमान होता दिखे तो आवाज अवश्य उठायें हमारा मिशन आपके साथ है।

। स्वागत भाषण कार्यक्रम प्रभारी डा0 आर0पी0 मौर्य ने किया, अध्यक्षता, लखनऊ क्लब के जिलाध्यक्ष हरिश्चन्द्र मौर्य ने व संचालन राजेश मौड ने किया।

Translate »