Day: November 9, 2018

बुद्ध की धरती पर बुद्ध का अपमान क्यों – अजय मौर्य

आज पूरा विश्व *तथागत बुद्ध* को मानता है लेकिन जिस देश में *तथागत बुद्ध* का जन्म हुआ वहीं पर उनका *अपमान* किया जा रहा है । मैं किसी की महानता को कम नहि कर रहा लेकिन ज़रा सोचो अभी तक विश्व में *सबसे ऊँची प्रतिमा* होने का गौरव *चीन* में बनी प्रतिमा *स्प्रिंग टेम्पल बुद्धा* (153 मीटर) थी । *दूसरी* विश्व में  सबसे ऊँची प्रतिमा *म्यांमार* में बनी *लेक्यून सेटक्यार* (116 मीटर) थी *तीसरी* विश्व में सबसे ऊँची प्रतिमा जापान में बनी *उशिकु दायबुत्सु* (110 मीटर) थी लेकिन 31 दिसम्बर को भारत के प्रधानमंत्री माननीय नरेन्द्र मोदी जी ने *सरदार पटेल* की 182 मीटर की प्रतिमा लगाकर *तथागत बुद्ध* को जो विश्व में सबसे ऊँची प्रतिमा होने का गौरव प्राप्त था उसे समाप्त कर दिया ऐसा करके भारत के प्रधानमंत्री माननीय नरेंद्र मोदी जी ने विश्व को शान्ति का संदेश देने वाले *तथागत बुद्ध* का अपमान तो किया साथ ही साथ *तथागत बुद्ध* को मानने वाले विश्व के  करोड़ों अनुयायियों की भावना को ठेस पहुँचाया ।
सोचने की बात है कि जब हमारे देश के महामहिम राष्ट्रपति , माननीय प्रधानमंत्री व माननीय मंत्रीगण जब विदेश जाते है तो तथागत बुद्ध की प्रतिमा अपने साथ लेकर जाते हैं और वहाँ जाकर कहते हैं कि हम तथागत बुद्ध, सम्राट अशोक की धरती से आयें है और अपने देश भारत में ही *तथागत बुद्ध* का अपमान किया जा रहा है।                             *अखिल भारतीय मौर्य महासभा* भारत के प्रधानमंत्री माननीय नरेंद्र मोदी जी से ये माँग करती है कि *तथागत बुद्ध* को जो विश्व में सबसे ऊँची प्रतिमा होने का गौरव प्राप्त था उसे पुनः दिलाने हेतु भारत में तथागत बुद्ध की प्रतिमा *सरदार पटेल की प्रतिमा* से भी ऊँची बनाई जाये नहि तो आने वाले चुनाव  में *तथागत बुद्ध* के करोड़ों अनुयायियों के साथ साथ *तथागत बुद्ध* के वंशज (शाक्य , मौर्य, सैनी, कुशवाहा समाज)  आपको माफ़ नहि करेंगे ।
🙏🙏🙏🙏🙏
*अजय मौर्य* (राष्ट्रीय अध्यक्ष)
  अखिल भारतीय मौर्य महासभा®
Translate »