Day: November 5, 2018

राष्ट्रीयता की भावना के जागृति के लिए सम्राट अशोक क्लब प्रतिबद्ध, उन्नाव में हुआ राष्ट्रीय प्रतीक जनचेतना यात्रा

    किसी भी देश कि पहचान उसके राष्ट्रीयप्रतीकों से होती है और हर देश के लोग अपने अपने राष्ट्रीय प्रतीकों का सम्मान करते है परन्तु अपने देश में अपने धार्मिक प्रतीकों के प्रति सक्रियता दिखती है परन्तु राष्ट्रीय प्रतीकों के प्रति आम लोग उदासीन रहते है,आये दिन राष्ट्रीय प्रतीकों को विभिन्न तरीको से अज्ञानतावस अपमानित करते रहते है जैसे राष्ट्रगान के समय टहलते रहना, राष्ट्रध्वज को उल्टा फहराना,चार सिंघो की जगह चार भेडिया बना देना इत्यादि तरीको से अपमानित किया जाता रहता है जो राष्ट्रहित में बड़ा चिंता का विषय है । इन्ही घटनाओ से आहत होकर सम्राट अशोक क्लब आम जनता में राष्ट्रीय प्रतीकों के प्रति श्रद्धा एवं चेतना जगाने हेतु जिलों-जिलों, गाँव-गाँव  राष्ट्रीय प्रतीक सम्मान समारोह एवं जन चेतनायात्रा कर रहा है ।

         इसी कड़ी में आज दिनाँक 04 नवम्बर 2018 को सम्राट अशोक क्लब शाखा उन्नाववराष्ट्रनायकयुवामहासंघशाखाउन्नाव के द्वारा हजारो की संख्या में महिलाओ एवं पुरुषो ने हर्षोल्लाश के साथ रोड मार्च किया जिस यात्रा में लोग राष्ट्रीय ध्वज के साथ हाथो में तिख्तिया लिए हुए उत्साह के साथ चल रहे थे जिस पे लिखा हुवा था “ अखंड भारत की क्या पहचान, अशोक स्तम्भ और चक्र निशान, भारत किसी भी देश की  पहचान उसके राष्ट्रीय प्रतीकों से होती है और हर देश के लोग अपने अपने राष्ट्रीय प्रतीकों की है किससे शान, विजयी विश्व अशोक महान, भारत को मत बर्बाद करो, पंचशील को याद करो, इत्यादि राष्ट्रभक्ति से जुड़े हुए अनेको नारे लिखे हुए थे ।

           उक्त यात्रा सम्राट अशोक शांती उपवन बुद्ध विहार गदन खेडा से जिला से जुड़े इस कार्यक्रम में सम्राट अशोक क्लब के राष्ट्रीय प्रवक्ता मा० डॉ० सच्चिदानंद मौर्य ने जगह जगह हो रहे राष्ट्रीय प्रतीकों का अपमान एवं आम जनता में उसके प्रति उदासीनता राष्ट्र की अखण्डता के लिए ख़तरा बताया आगे डॉ०सचिदानंद मौर्य ने प्रतीकों के संदेशो को जन-जन तक पहुचाने हेतु अस्पताल, बड़ा चौराहा होते हुए निराला पार्क पहुच कर गोष्ठी में तब्दील हो गयी । राष्ट्रीय प्रतीकों के सम्मान कार्यकर्ताओ से अपील की।

सम्राट अशोक क्लब के राष्ट्रीय राष्ट्रीय अध्यक्ष मा. दीनानाथ मौर्य

रेलवे की बड़ी पहल, अगर प्‍लेटफॉर्म पर हुए बीमार, तो स्‍टेशन पर ही मिलेगा इलाज

दिवाली व छठ में घर जाने वालों की भीड़ स्टेशनों पर पहुंचने लगी है। भीड़ को देखते हुए रेलवे द्वारा कई कदम उठाए गए हैं। यदि सफर के दौरान किसी यात्री की तबीयत खराब हो जाती है, तो उसे स्टेशन पर ही प्राथमिक उपचार देने के साथ ही जरूरत के अनुसार अस्पताल पहुंचाने की व्यवस्था की गई है। इसके लिए रेलवे स्टेशनों पर स्वास्थ्य कर्मियों की तैनाती करने के साथ ही एंबुलेंस की भी व्यवस्था की गई है।

सफर के दौरान इलाज समस्‍या

सफर के दौरान तबीयत खराब होने पर समय पर उपचार उपलब्ध कराना बड़ी समस्या है। स्टेशनों पर भीड़ बढ़ने से यात्रियों के गिरकर चोटिल होने का खतरा बना रहता है। इसके साथ ही बुजुर्ग और बच्चों की तबीयत भी बिगड़ने की संभावना बनी रहती है।

पांच दिन बंद रहेंगी बैंक, कर लें लेनदेन के कामकाज

यदि आप दीपावली और भाई दूज जैसे त्योहारों पर कैश की किल्लत से बचना चाहते हैं तो आज और कल में ही बैंकों से लेनदेन कर लें। इसके बाद बुधवार से रविवार तक बैंक लगातार पांच दिन बंद रहेंगी।

पांच दिवसीय दीपोत्सव सोमवार से शुरू हो रहा है। धनतेरस को बर्तन और सोने व चांदी की खरीदारी होगी। मंगलवार को छोटी दीपावली के दिन भी बाजार में पूजन सामग्री, कपड़े, मिठाई एवं अन्य सामान की बिक्री होगी। खरीदारी की व्यस्तता के बीच आपको अपनी जेब का भी ध्यान रखना होगा। यदि कैश नहीं है तो एटीएम के भरोसे मत रहिए। त्योहार में ये भी धोखा दे सकते हैं। बेहतर है कि खरीदारी से थोड़ा समय निकाल कर बैंक से कैश निकाल लीजिए। वजह है कि बुधवार को दीपावली से बैंकों में पांच दिन की छुट्टियां पड़ रही हैं।

गुरुवार को गोवर्धन पूजा, शुक्रवार को भाई दूज के बाद शनिवार को सेकंड सैटरेड और रविवार को साप्ताहिक अवकाश रहेगा। बैंक फिर सोमवार को ही खुलेंगी। ऐसे में फिर एटीएम ही एकमात्र सहारा होंगे जो हर बार धोखा दे जाते हैं।

Translate »