Day: October 15, 2018

444 साल पहले अकबर ने क्यों प्रयागराज का नाम बदलकर किया इलाहाबाद

उत्तर प्रदेश की संगम नगरी इलाहाबाद का नाम 444 साल बाद फिर से प्रयागराज होने जा रहा है. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की इस घोषणा के बाद संत समाज काफी उत्साहित है।

दरअसल, पुराणों में इलाहाबाद का नाम प्रयागराज ही था. लेकिन अकबर के शासनकाल में इसे बदलकर इलाहाबाद कर दिया गया था।

इतिहासकार बताते हैं कि अकबरनामा और आईने अकबरी व अन्य मुगलकालीन ऐतिहासिक पुस्तकों से ज्ञात होता है कि अकबर ने सन 1574 के आसपास प्रयागराज में किले की नींव रखी।

अकबर ने यहां नया नगर बसाया जिसका नाम उसने इलाहाबाद रखा. उसके पहले तक इसे प्रयागराज के ही नाम से जाना जाता था।

देखा जाए तो रामचरित मानस में इलाहबाद को प्रयागराज ही कहा गया है. संगम के जल से प्राचीन काल में राजाओं का यहां अभिषेक होता था. इस बात का उल्लेख वाल्मीकि रामायण में भी है. वन जाते समय श्रीराम प्रयाग में भारद्वाज ऋषि के आश्रम पर होते हुए गए थे।

IRCTC ने पेश किया AskDisha, यात्रियों को मिलेगा उनके हर सवाल का जवाब

नई दिल्ली (टेक डेस्क)। IRCTC ने यात्रियों के लिए उपभोक्ता सेवा में सुधार के लिए आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस आधारित चैटबोट AskDisha पेश किया है। इस सिस्टम की मदद से रेल यात्री IRCTC की वेबसाइट से यात्रा, ट्रेन, टिकट और कैटरिंग से संबंधित जानकारियां जान पाएंगे। IRCTC ने दावा किया है कि वो देश का पहला सरकारी विभाग है जिसने ऐसा सिस्टम पेश किया है। AskDisha को IRCTC की वेबसाइट पर दायीं तरफ नीचे दिया गया है।

जानें कैसे करें AskDisha का इस्तेमाल?

IRCTC की वेबसाइट पर जाकर दायीं तरफ नीचे दिए गए AskDisha के विकल्प को क्लिक करें। क्लिक करते ही एक बॉक्स ओपन होगा। इसमें यात्री अपने सवालों का जवाब हासिल कर सकते हैं। यात्रियों के लिए जो सुविधा शुरू की गई है इसके लिए स्पेशल कंप्यूटर प्रोग्राम डिजाइन किया गया है। यह प्रोग्राम यात्रियों को उनके द्वारा पूछी गई सभी जानकारी उपलब्ध कराएगा। IRCTC ने कहा है कि इसके जरिए यात्री टिकट बुकिंग से लेकर कैटरिंग तक हर सवाल का जवाब पा सकेंगे।

आपको बता दें कि इस सिस्टम को क्षेत्रीय भाषाओं में भी इस्तेमाल किया जा सकेगा। इस सिस्टम को जल्द ही एंड्रॉइड से जोड़ा जाएगा। इस सिस्टम से भारतीयों के अलावा विदेशियों को भी अपने सवालों के जवाब मिल सकेंगे।

फिर बदल सकता है मौसम का मिजाज, तीन दिन बारिश की संभावना

चंडीगढ़ । पंजाब के किसानों के लिए बुरी खबर है। बुधवार से फिर तीन दिन तक पंजाब में बारिश के आसार हैं और कहीं-कहीं तेज हवाएं भी चल सकती हैं। मौसम विभाग ने बुलेटिन जारी करते हुए कहा कि उत्तरी पंजाब के जिलों में तेज बारिश हो सकती है जबकि शेष पंजाब में तीन दिन तक धीमी बारिश होगी।

धान उत्पादक किसानों के लिए यह खबर अच्छी नहीं है, क्योंकि इन दिनों साफ मौसम होने के बावजूद मंडियों में जो फसल आ रही है उसमें नमी 24 फीसद से ज्यादा है। ऐसे में तीन दिन यदि और बारिश हुई और शनिवार तक मौसम खराब बना रहा तो न केवल नमी की मात्र बढ़ेगी, बल्कि तेज हवाओं के साथ धान बिछने के भी आसार हैं।

उत्तरी जिलों पठानकोट, गुरदासपुर, अमृतसर आदि में बासमती ज्यादा उगाई जाती है और यह लेट वरायटी होने के कारण इनकी कटाई भी देरी से होती है। ऐसे में इन्हीं जिलों में बारिश होने के कारण किसानों को दिक्कतें आ सकती हैं।

Translate »