Day: October 10, 2018

डेंगू, पीलिया और आंखों के रोगों समेत कई अन्‍य रोगों में रामबाण औषधि है जीवन्तिका

नई दिल्ली । गिलोय की एक बहुवर्षिय लता होती है। इसके पत्ते पान के पत्ते की तरह होते हैं। आयुर्वेद साहित्य में इसे ज्वर की महान औषधि माना गया है एवं जीवन्तिका नाम दिया गया है। गिलोय की लता जंगलों, खेतों की मेड़ों, पहाड़ों की चट्टानों आदि स्थानों पर सामान्यतः कुण्डलाकार चढ़ती पाई जाती है। नीम, आम्र के वृक्ष के आस-पास भी यह मिलती है। जिस वृक्ष को यह अपना आधार बनाती है, उसके गुण भी इसमें समाहित रहते हैं। इस दृष्टि से नीम पर चढ़ी गिलोय श्रेष्ठ औषधि मानी जाती है। इसका काण्ड छोटी अंगुली से लेकर अंगूठे जितना मोटा होता है। बहुत पुरानी गिलोय में यह बाहु जैसा मोटा भी हो सकता है। इसमें से स्थान-स्थान पर जड़ें निकलकर नीचे की ओर झूलती रहती हैं। चट्टानों अथवा खेतों की मेड़ों पर जड़ें जमीन में घुसकर अन्य लताओं को जन्म देती हैं।

इसकी पत्तियों में कैल्शियम, प्रोटीन, फास्‍फोरस और तने में स्टार्च पाया जाता है। यह वात, कफ और पित्तनाशक होती है। गिलोय शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाती है। साथ ही इसमें एंटीबायोटिक और एंटीवायरल तत्‍व भी होते है। औषधीय गुणों के आधार पर नीम के वृक्ष पर चढ़ी हुई गिलोय को सर्वोत्तम माना जाता है क्योंकि गिलोय की बेल जिस वृक्ष पर भी चढ़ती है वह उस वृक्ष के सारे गुण अपने अंदर समाहित कर लेती है तो नीम के वृक्ष से उतारी गई गिलोय की बेल में नीम के गुण भी शामिल हो जाते हैं अतः नीमगिलोय सर्वोत्तम होती है।

जानिए कैसे करें PM स्कॉलरशिप स्कीम फॉर RPF/RPSF 2018-19 के लिए आवेदन

नई दिल्ली । भारत सरकार की ओर से प्राइम मिनिस्टर स्कॉलरशिप स्कीम फॉर आरपीएफ/ आरपीएसएफ 2018-19 स्कॉलरशिप आरपीएफ/आरपीएसएफ के भूतपूर्व सैनिकों और उनकी विधवाओं के आश्रित बच्चों को टेक्निकल एवं प्रोफेशनल एजुकेशन में आर्थिक सहायता देने के उद्देश्य से है। इस स्कॉलरशिप की 50 प्रतिशत सीट छात्राओं के लिए आरक्षित है।

  • योग्यता: आरपीएफ/आरपीएसएफ के राजपत्रित अधिकारी रैंक से नीचे के भूतपूर्व सैनिकों और उनकी विधवाओं के आश्रित बच्चे इसके लिए पात्र हैं, जिनकी न्यूनतम शैक्षिक योग्यता यानी 12वीं कक्षा, डिप्लोमा या ग्रेजुएशन में 60 प्रतिशत या इससे अधिक होनी चाहिए। इसके अलावा, एआइसीटीई, एमसीआइ, यूजीसी, एनसीटीई आदि सरकारी प्राधिकरणों द्वारा मान्यता प्राप्त टेक्निकल या प्रोफेशनल कोर्स वर्तमान में कर रहे हों।
  • कैसे करें आवेदन: इच्छुक छात्र ऑनलाइन कर सकते हैं
  • धनराशि: चयनित छात्रों को 2 हजार रुपये व छात्राओं को 2250 रुपये की धनराशि प्रतिमाह प्रदान की जाएगी।
  • अंतिम तिथि: 15 अक्टूबर, 2018
Translate »