Day: September 25, 2018

Asia Cup 2018: भारत-अफगानिस्तान के बीच मैच आज

जीत के रथ पर सवार भारतीय क्रिकेट टीम के सामने अब अफगानिस्तान की युवा चुनौती होगी। टूर्नामेंट में 4 में से 2 मैच अपने नाम कर चुकी अफगानिस्तान के खिलाफ भारतीय टीम कई युवा खिलाड़ियों के साथ मैदान पर उतर सकती है।

मैच कहां है?

यह मैच दुबई के इंटरनेशनल स्टेडियम में खेला जाएगा।

किस समय शुरू होगा मैच ?

यह मैच भारतीय समयानुसार शाम पांच बजे शुरू होगा। टॉस 4:30 बजे होगा।

आज फिर बढ़े तेल के दाम, जानिए दिल्ली में क्या हैं कीमतें

तेल की कीमतों में बढ़ोतरी का सिलसिला लगातार जारी है। मंगलवार को एक बार फिर पेट्रोल-डीजल के दामों में बढ़ोतरी हुई है। दिल्ली में पेट्रोल की कीमतों में 14 पैसे का इजाफा हुआ है, जबकि डीजल की कीमतें भी 10 पैसे बढ़ी हैं। अब दिल्ली में पेट्रोल की कीमत 82.86 रुपये प्रति लीटर हो गई है, जबकि डीजल 74.12 रुपये प्रति लीटर मिल रहा है।

आयुष्मान भारत योजना: घर बैठे पता करें कि आपको इसका लाभ मिलेगा या नहीं

दुनिया की सबसे बड़ी स्वास्थ्य बीमा योजना आयुष्मान भारत रविवार को झारखंड की राजधानी रांची से लॉन्च कर दी गई। सरकार के मुताबिक इस योजना से 10 करोड़ से ज्यादा परिवारों के 50 करोड़ लोगों को लाभ होगा। इस योजना का फायदा लेने के लिए आधार कार्ड अनिवार्य नहीं है। आधार कार्ड एक विकल्प के तौर पर इस्तेमाल किया जा सकता है, सरकार ने इसे अनिवार्य नहीं किया है।

किस आधार पर मिलेगा फायदा

2011 के सामाजिक-आर्थिक और जाति जनगणना में गरीब के तौर पर चिह्नित किए गए सभी लोगों को पात्र माना गया है। मतलब अगर कोई शख्स 2011 के बाद गरीब हुआ है, तो वह कवर से वंचित हो जाएगा। बीमा कवर के लिए उम्र, परिवार के आकार को लेकर कोई बंदिश नहीं है। लाभार्थी सरकारी या निजी अस्पताल में हर साल 5 लाख रुपए तक का कैशलेस इलाज करा सकेंगे।

ऐसे करें जांच फायदा मिलेगा या नहीं

आयुष्मान भारत के लाभार्थियों में आपका नाम है या नहीं और आप इसका फायदा उठा सकते है या नहीं। इसकी जांच आप घर बैठे ही कर सकते हैं। इसके लिए आप 14555 टोल फ्री नंबर पर कॉल कर सकते हैं. या फिर आप ऑनलाइन भी चेक कर सकते हैं. इसके लिए आपको https://www.abnhpm.gov.in/ पर ‘AM I ELIGIBLE’ वाले विकल्प पर जाना होगा।

दागी नेताओं के चुनाव लड़ने पर सुप्रीम कोर्ट का आया फैसला

दागी नेताओं के चुनाव लड़ने के मामले पर सुप्रीम कोर्ट ने आज अपना फैसला सुना दिया। कोर्ट ने कहा कि संसद को यह सुनिश्चित करना चाहिए कि आपराधिक छवि वाले लोग राजनीति में नहीं आएं, क्योंकि

राजनीति का अपराधीकरण बहुत खतरनाक है।

बता दें कि नेताओं पर नकेल कसने संबंधी दो महत्वपूर्ण मामलों पर आज सुप्रीम कोर्ट का फैसला आना था। एक मामला राजनीति को अपराध मुक्त रखने से संबंधित है और दूसरा सांसदों और विधायकों को वकालत करने पर रोक लगाने से संबंधित है।

पहले मामले में पांच सदस्यीय संविधान पीठ ने उस याचिका पर अपना फैसला सुना दिया, जिसमें आपराधिक मामलों में आरोप तय होने व पांच वर्ष की सजा के प्रावधान वाले मामले में लोगों पर चुनाव लड़ने पर पाबंदी लगाई जाए। यह याचिका पब्लिक इंटरेस्ट फाउंडेशन सहित अन्य की ओर से दायर की गई थी।

वहीं, दूसरे मामले में अभी फैसला नहीं आया है। इस मामले में सुप्रीम कोर्ट की तीन सदस्यीय पीठ यह तय करेगी कि सांसद व विधायक बतौर वकील अदालत में प्रैक्टिस कर सकते हैं या नहीं। फिलहाल उनके प्रैक्टिस करने पर कोई रोक नहीं है।

Translate »