Day: September 19, 2018

Whatsapp पर इस ट्रिक से बिना नंबर Save किए किसी को भी भेज सकते हैं मैसेज

नई दिल्ली(टेक डेस्क)। Whatsapp का इस्तेमाल भारत में 20 करोड़ से भी ज्यादा यूजर्स करते हैं। ऐप को न सिर्फ पर्सनल काम के लिए बल्कि ऑफिशियल कामों के लिए भी इस्तेमाल किया जाता है। ऐसे में इस ऐप से जुड़ी एक ट्रिक के बारे में हम आपको बताने जा रहे हैं जिसके बाद आपको किसी भी यूजर को मैसेज करने के लिए उसका नंबर सेव नहीं करना होगा।

दरअसल हम सब जानते हैं कि Whatsapp पर किसी को मैसेज करने के लिए हमें उस यूजर का नंबर सेव करना होता है। ऐसे में कई बार हमें उन लोगों का भी नंबर सेव करना पड़ता है जिनसे हमें दोबारा मैसेज नहीं करने वाले होते हैं। तो अब इस परेशानी से बचने के लिए हमारे बताए हुई ट्रिक का इस्तेमाल करें।

Click to Chat करेगा मदद

WhatsApp ने कुछ समय पहले Click to Chat फीचर को यूजर्स के लिए पेश किया था। Click to Chat फीचर की मदद से आप उन यूजर्स को मैसेज कर सकते हैं जिनका नंबर आपके फोन में सेव नहीं होता है।

इसके अलावा आप जिसे मैसेज भेज रहे हैं उसका WhatsApp पर अकाउंट हो।

इन स्टेप्स को करें फॉलो

Step 1: अपने स्मार्टफोन या पीसी के ब्राउजर को ओपेन करें और Web.whatsapp.com टाइप करके इंटर कर दें।

Step 2: इसके बाद Web Whatsapp को QR Code के जरिए स्कैन करके कनेक्ट कर लें।

Step 3: अब अपने ब्राउजर पर एक नया टैब ओपेन करें और वहां api.whatsapp.com/send?phone= को टाइप करें।

Step 4: लिंक का यूआरएल जहां खत्म हो रहा है, वहां 91(कंट्री कोड) के साथ जिसे मैसेज भेजना हो उसका नंबर डालें और इंटर कर दें। उदाहरण के लिए api.whatsapp.com/send?phone=919812345678

Step 5: इसके बाद आपको हरें रंग में Message का बटन दिखाई देगा, इस पर क्लिक करें और मैसेज टाइप करें।

Live Ind vs Pak: पाकिस्तान को लगा दूसरा झटका, शून्य पर आउट हुए फखर जमां

नई दिल्ली । एशिया कप में भारत और पाकिस्तान की टीम आमने-सामने है। इस मैच में पाकिस्तान ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाज़ी का फैसला किया है। खबर लिखे जाने तक पाकिस्तान ने 10 ओवर में 2 विकेट के नुकसान पर 25 रन बना लिए हैं।

पहली पारी में भारतीय टीम के तेज गेंदबाज भुवनेश्वर कुमार ने अपनी टीम को पहली सफलता दिलाई। उन्होंने फॉर्म में चल रहे पाकिस्तान के ओपनर बल्लेबाज इमाम-उल-हक को कैच आउट करवाया। इमाम ने 7 गेंदों पर 2 रन बनाए और उनका कैच धौनी ने लपका। शानदार फॉर्म में चल रहे पाकिस्तान के दूसरे ओपनर बल्लेबाज फखर जमां को भी भुवी ने पवेलियन का रास्ता दिखा दिया। फखर ने नौ गेंदों का सामना किया लेकिन अपना खाता भी नहीं खोल पाए। उनका कैच युजवेंद्र चहल ने लपका।

भारतीय टीम में हुए दो बदलाव

पाकिस्तान के खिलाफ इस अहम मैच के लिए भारतीय टीम ने दो बदलाव किए हैं। खलील अहमद की जगह जसप्रीत बुमराह और शार्दुल ठाकुर की जगह हार्दिक पांड्या को अंतिम ग्यारह में मौका दिया गया है।

 

IND vs SL: तानिया भाटिया ने खेली आतिशी पारी, भारतीय महिलाओं ने जीता पहला T-20

कटुनायके (श्रीलंका)। पूनम यादव की शानदार गेंदबाजी की बदौलत भारत ने पांच मैचों की टी-20 सीरीज के पहले मैच में यहां बुधवार को श्रीलंका को 13 रनों से शिकस्त दे दी। टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी भारतीय टीम ने निर्धारित 20 ओवर में आठ विकेट के नुकसान पर 168 रन बनाए, जिसके जवाब में मेजबान टीम 19.3 ओवर में 155 रन ही बना सकी।

भारत की शुरुआत खराब रही और सलामी बल्लेबाज स्मृति मंधाना बिना खाता खोले ही पवेलियन लौट गईं। अनुभवी बल्लेबाज मिताली राज ने मेहमान टीम की पारी को संभाला और महत्वपूर्ण 17 रन बनाए।

तीन तलाक पर बड़ा फैसला, मोदी सरकार ने अध्यादेश को दी मंजूरी

नई दिल्ली । मोदी सरकार ने तीन तलाक बिल पर बड़ा फैसला लिया है। केंद्रीय कैबिनेट ने बुधवार को तीन तलाक अध्यादेश को मंजूरी दे दी है। तीन तलाक देना अब अपराध माना जाएगा। बता दें कि नए बिल में तीन तलाक (तलाक-ए-बिद्दत) के मामले को गैर जमानती अपराध माना गया है लेकिन संशोधन के हिसाब से अब मजिस्ट्रेट को जमानत देने का अधिकार होगा।

गौरतलब है कि लोकसभा से पारित होने के बाद यह बिल राज्यसभा में अटक गया था। कांग्रेस समेत अन्य दलों ने संसद में विधेयक में संशोधन की मांग की थी। हालांकि संशोधन के बावजूद यह विधेयक राज्यसभा से पारित नहीं हो पाया था। बतादें कि यह अध्यादेश छह महीने तक लागू रहेगा। इस दौरान सरकार को इसे संसद से पारित कराना होगा। तीन तलाक बिल इससे पहले संसद के बजट सत्र और मानसून सत्र में पेश किया गया था।

रविशंकर प्रसाद ने कांग्रेस को घेरा
तीन तलाक पर अध्यादेश को मंजूरी देने के कैबिनेट के फैसले के बाद केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद मीडिया से मुखातिब हुए। उन्होंने आभार व्यक्त करते हुए कहा कि मीडिया ने इस मामले को विस्तार से छापा है। इस दौरान कांग्रेस को निशाने पर लेते हुए उन्होंने आरोप लगाया कि वोट बैंक के दबाव में कांग्रेस ने तीन तलाक बिल को समर्थन नहीं दिया। कांग्रेस के विरोध को लेकर पूछे गए एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा, ‘अगर कांग्रेस पार्टी को इंसाफ और इंसानियत में भी राजनीति दिखाई देती है तो उसे समझाने का काम हमारा नहीं है।’ इसके अलावा उन्होंने अपील करते हुए कहा कि सोनिया गांधी, ममता बनर्जी और मायावती को इस मुद्दे पर सरकार का साथ देना चाहिए।

Translate »