Day: September 17, 2018

हरियाणा गैंगरेप : मुख्य आरोपी ने पीड़िता की हालत बिगड़ने पर डॉक्टर को भी बुलाया था

नई दिल्ली: हरियाणा के रेवाड़ी में एक युवती के साथ रेप के मामले में एक डॉक्टर संजीव कुमार को भी गिरफ्तार किया गया है जिसे आरोपियों ने बुधवार (12 सितम्बर) को दुष्कर्म के बाद पीड़िता की हालत बिगड़ने पर बुलाया था. पुलिस अधिकारियों का कहना है कि चिकित्सक ने पीड़िता का प्राथमिक उपचार किया था. उसे आरोपियों ने धमकी दी थी. उसने पीड़िता के साथ दुष्कर्म की बात जानने के बाद भी पुलिस को इसकी जानकारी नहीं दी. आपको बता दें कि हरियाणा पुलिस ने रेवाड़ी की एक युवती से कथित सामूहिक दुष्कर्म के सिलसिले में एक मुख्य आरोपी समेत तीन लोगों को रविवार को गिरफ्तार कर लिया. दो अन्य मुख्य आरोपियों को पकड़ने के लिए कई जगहों पर छापेमारी जारी है. एक आरोपी सेना का जवान है.
राज्य सरकार ने भी कार्रवाई करते हुए जिला पुलिस अधीक्षक का तबादला कर दिया है. अधिकारियों ने कहा कि विशेष जांच दल (एसआईटी) प्रमुख और मेवात एसपी नाजनीन भसीन ने रेवाड़ी में संवाददाताओं को बताया कि निशू नाम का मुख्य आरोपी गिरफ्तार कर लिया गया है. दो अन्य आरोपियों पंकज, जो सेना का जवान है और मनीष को पकड़ने के प्रयास जारी हैं.  इससे पहले पुलिस महानिदेशक बीएस संधू ने मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर से मिलकर उन्हें इस मामले में जांच में हुई प्रगति से अवगत कराया.  संधू ने कहा कि गिरफ्तार दो अन्य लोगों में डॉ संजीव शामिल है जिसने अपराध के बाद सबसे पहले युवती को देखा था. दूसरा आरोपी दीनदयाल गिरफ्तार हुआ है जिसके कमरे में उससे कथित रूप से दुष्कर्म हुआ था.  रेवाड़ी की रहने वाली स्कूल टॉपर छात्रा (19) को बुधवार को पड़ोसी महेंद्रगढ़ जिले के कनीना कस्बे में एक बस स्टॉप से अगवा कर लिया गया था। सरकार द्वारा सम्मानित हो चुकी छात्रा कोचिंग के लिए जा रही थी.     उसे कथित रूप से नशीले पदार्थ का सेवन कराके सामूहिक दुष्कर्म किया गया.
इस मामले में त्वरित कार्रवाई में विफल रहने का आरोप झेल रहे रेवाड़ी के पुलिस अधीक्षक राजेश दुग्गल को हटा दिया गया है और उनका स्थान मुख्यमंत्री की सुरक्षा में तैनात पुलिस अधीक्षक राहुल शर्मा को दिया गया है. दुग्गल अब हिसार में हरियाणा आर्म्ड पुलिस की बटालियन की अगुवाई करेंगे. पीड़िता के परिवार ने आरोप लगाया कि उनकी शिकायत पर पुलिस उचित कार्रवाई करने में विफल रही है और रेवाड़ी एवं महेंद्रगढ़ जिलों की पुलिस इकाई के बीच अधिकार क्षेत्र को लेकर विवाद की वजह से कार्रवाई में देरी हुई.
ट्यूबवेल के जिस कमरे में छात्रा के साथ यह घिनौनी घटना घटी, उसके मालिक दीनदयाल ने पुलिस को बताया कि तीनों आरोपियों ने घटना के दिन उससे कमरे की चाबियां ली थीं. पुलिस ने दावा किया कि दीनदयाल अपराध के बारे में जानता था, लेकिन उसने इसकी रिपोर्ट नहीं की. मामले की जांच में शामिल एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि हरियाणा, राजस्थान, दिल्ली समेत कई अन्य राज्यों में तीनों प्रमुख आरोपियों को पकड़ने के लिए कई जगहों पर छापेमारी की जा रही है.

Asia Cup: पहले मैच में कल श्रीलंका से भिड़ेगा बांग्‍लादेश, सबकी नजर भारत-पाक के ‘महामुकाबले’ पर..

दुबई:

एशिया कप क्रिकेट टूर्नामेंट का आगाज शनिवार, 15 सितंबर से होने जा रहा है. संयुक्‍त अरब अमीरात (यूएई) में खेले जा रहे इस टूर्नामेंट का प्रारंभिक मुकाबला कल बांग्‍लादेश और श्रीलंका के बीच खेला जाएगा. टूर्नामेंट का रोमांच उस समय चरम पर होगा जब 19 सितंबर को प्रबल प्रतिद्वंद्वी भारत और पाकिस्‍तान की टीमें एक-दूसरे के सामने होंगी. टीम इंडिया इस टूर्नामेंट में अपने नियमित कप्‍तान विराट कोहली के बगैर उतरेगी, जिन्‍हें आगामी व्‍यस्‍त शेड्यूल को देखते हुए बीसीसीआई ने आराम देने का फैसला किया है. विराट की गैरमौजूदगी में ओपनर रोहित शर्मा टीम इंडिया की कमान संभाल रहे हैं. टूर्नामेंट में भारत और पाकिस्तान की टीमों के बीच दो मैच तो तय हैं लेकिन अगर दोनों टीमें फाइनल में पहुंचती है तो तीसरे मुकाबले की भी संभावना है. सभी मैच भारतीय समयानुसार शाम पांच बजे शुरू होंगे.

भारत और पाकिस्तान के बीच ग्रुप लीग में एक मैच होगा जबकि दूसरा सुपर चार चरण में होना लगभग तय है. वैसे आयोजक, प्रसारक और समर्थक 28 सितंबर को होने वाले फाइनल में भी दोनों टीमों के पहुंचने की उम्मीद लगाए होंगे. भारत के पास यह देखने का मौका होगा कि टीम कोहली की अनुपस्थिति में दबाव भरे हालात में कैसे खेलेगी. भारतीय टीम टूर्नामेंट में अपने अभियान का आगाज18 सितंबर को हांगकांग के खिलाफ मैच खेलकर करेगी इसके अगले दिन यानी 19 सितंबर को उसे पाकिस्तान से दो-दो हाथ करना है. विराट की अनुपस्थिति में टीम की बागडोर संभाल रहे रोहित शर्मा की छवि शॉर्टर फॉर्मेट के जबर्दस्‍त खिलाड़ी की है लेकिन अच्छी टीमों के खिलाफ उनके नेतृत्व कौशल की परीक्षा नहीं हुई है. पिछले साल दिसंबर में श्रीलंका के खिलाफ उन्होंने कप्तानी संभाली थी लेकिन वो टीम इतनी मजबूत नहीं थी. ऐसे में हर किसी का ध्‍यान इस बात पर केंद्रित है कि  भारतीय टीम रोहित की कप्‍तानी में बेहतरीन पाकिस्तान से कैसे खेलती है. पाकिस्‍तानी टीम में मोहम्मद आमिर और हसन अी के रूप में विश्व स्तरीय तेज गेंदबाज, तथा फखर जमां और बाबर आजम जैसे बल्‍लेबाज शामिल हैं. टूर्नामेंट में टीम इंडिया की कोशिश अपने मिडिल ऑर्डर के कांबिनेशन को सेट करने के साथ पूर्व कप्‍तान महेंद्र सिंह धोनी के लिए उपयुक्‍त बल्लेबाजी क्रम में सही स्थान चुनने की होगी.

एशिया कप में बांग्लादेश ने लगाातर अच्छा प्रदर्शन किया है. पिछले चरण में घरेलू मैदान पर वे फाइनल में पहुंचने में सफल रहे थे, हालांकि यह टी20 प्रारूप में खेला गया था. वर्ष 2012 में वे 50 ओवर के प्रारूप के फाइनल में खेले थे. मशरफे मुर्तजा की अगुवाई वाली टीम के पास दुबई और अबुधाबी में धीमी पिच के लिये अच्छा गेंदबाजी लाइन-अप है, वहीं बल्लेबाजी में तमीम इकबाल और महमूदुल्लाह  शामिल हैं. मुशफिकुर रहीम और शकिबुल हसन भी अच्छा प्रदर्शन दिखाने के काबिल हैं जिससे टीम को टूर्नामेंट में ‘छुपा रुस्तम’ कहा जा सकता है. श्रीलंका ऐसी टीम है जिसके खिलाफ भारत ने पिछले 24 महीनों में सभी प्रारूपों में सबसे ज्यादा मुकाबले खेले हैं. टीम में बदलाव का दौर काफी लंबा चल रहा है, इसके अलावा अंदरूनी मुद्दे जैसे बोर्ड का प्रशासन और वेतन विवाद से भी उन्हें कुछ समय से जूझना पड़ रहा है. हालांकि उनके पास एंजेलो मैथ्यूज, उपुल थरंगा, तिसारा परेरा और लसिथ मलिंगा के रूप में काफी अनुभव शामिल है जबकि युवाओं में अकिला धनंजय, दासुन शनाका और कासुन रंजीता मौजूद हैं. श्रीलंका की समस्या उनका लगातार अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पाना है और वे उम्मीद करेंगे कि इसमें बदलाव कर सकें. अफगानिस्तान के लिये एशिया कप यह दिखाने का मौका होगा कि उनके पास टी20 सुपरस्टार राशिद खान के अलावा भी बेहतरीन खिलाड़ी मौजूद हैं. उनके पास मोहम्मद शहजाद भी है जिससे टीम एक दो उलटफेर करने की कोशिश करेगी. इनके अलावा हांगकांग की टीम भी इसमें खेल रही है जिसमें भारतीय मूल के अंशुमन रथ कप्तान होंगे. टीम की कोशिश प्रतिस्पर्धी बने रहने की होगी क्योंकि उनके मैचों को अब वनडे का दर्जा मिल गया है.

टूर्नामेंट में भाग लेने वाली टीमें इस प्रकार हैं…
बांग्लादेश: मशरफे मुर्तजा (कप्तान), तमीम इकबाल, लिटन कुमार दास, मुशफिकुर रहीम (विकेटकीपर), महमूदुल्लाह रियाद, मोमिनुल हक, अरिफुल हक, मोहम्मद मिथुन, मुस्तफिजुर रहमान, रुबेल हुसैन, मेहदी हसन मिराज, मोसादेक हुसैन, नजमुल इस्लाम, नजमुल हुसैन शांतो और अबु हिदर रोनी.
श्रीलंका: एंजेलो मैथ्यूज (कप्तान), कुसाल परेरा, कुसाल मेंडिस, उपुल थरंगा, तिसारा परेरा, निरोशन डिकवेला, धनंजय डि सिल्वा, दासुन शनाका, कासुन रजीता, अकिला धनंजय, अमिला अपोंसो, लसिथ मलिंगा, दुष्मंत चामीरा, दिलरुवान परेरा और शेहान जयसूर्या.
भारत: रोहित शर्मा (कप्तान), शिखर धवन, लोकेश राहुल, अम्बाती रायुडू, मनीष पांडे, केदार जाधव, महेंद्र सिंह धोनी (विकेटकीपर), हार्दिक पंड्या, भुवनेश्वर कुमार, जसप्रीत बुमरा, कुलदीप यादव, युजवेंद्र चहल, शार्दुल ठाकुर, दिनेश कार्तिक, खलील अहमद.
पाकिस्तान: सरफराज अहमद (कप्तान और विकेटकीपर), फखर जमां, शान मसूद, बाबर आजम, हैरिस सोहेल, इमाम उल हक, आसिफ अली, शदाब खान, मोहम्मद नवाज, फहीम अशरफ, हसन अली, मोहम्मद आमिर, शोएब मलिक, जुनैद खान, उस्मान खान और शाहीन अफरीदी.
अफगानिस्तान: असगर अफगान (कप्तान), मोहम्मद शहजाद, इहसानुल्लाह जनत, हसमतुल्लाह शाहिदी, नजीबुल्लाह जदरान, मुनीर अहमद, जावेद अहमदी, मोहम्मद नबी, रहमत शाह, गुलबदन नायब, समिउल्लाह शेनवारी, शराफुद्दीन अशरफ, राशिद खान, मुजीब जदरान, आफताब आलम, यास्मीन अहमदजई, सैयद शिरजाद.
 हांगकांग: अंशुमन रथ (कप्तान), एजाज खान, बाबर हयात, कैमरन मैकाल्सन, क्रिस्टोफर कार्टर, अहसन खान, अहसन नवाज, अरशद मोहम्मद, किनचिट शाह, नदीम अहमद, राग कपूर, स्कॉट मैकेहनी, तनवीर अहमद, तनवीर अफजल, वकास खान और आफताब हुसैन.

अब इस पूर्व ओपनर ने की रवि शास्त्री को हटाने की मांग

नई दिल्ली:|इंग्लैंड दौरे में हाल ही में टेस्ट सीरीज में 4-1 से मिली करारी शिकस्त के बाद कोच रवि शास्त्री प्रशंसकों से  लेकर पूर्व क्रिकेटरों की आंखों में कांटे की तरह चुभने लगे हैं. और अगर इस पर भी कुछ कसर बाकी बची थी, तो वह बाद में रवि शास्त्री के बयानों ने पूरी कर दी. शास्त्री और कप्तान विराट कोहली ने हार के बाद ऐसे बयान दिए, जो अभी भी चर्चा का विषय बने हुए हैं. और आम से लेकर खास तक हर कोई इन बयानों की जमकर खिल्ली उड़ा रहा है.

सीरीज में हार के बाद रवि शास्त्री ने कहा था कि टीम विराट पिछले 15 सालों में इंग्लिश जमीं पर सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने वाली टीम है. जैसे ही बयान आया, तो पहले सुनील गावस्कर ने शास्त्री को नसीहतें दीं. और इसके बाद तो सिलसिला शुरू हो गया. रवि शास्त्री को कोच पद से हटाने की आवाज भी सुनाई देने लगी. और अब इन लोगों में पूर्व ओपनर चेतन चौहान का नाम भी शामिल हो गया है.

चेतन चौहान ने साफ कहा कि ऑस्ट्रेलिया दौरे के लिए रवि शास्त्री को मुख्य कोच पद से हटा देना चाहिए. उन्होंने कहा कि शास्त्री बहुत अच्छे कमेंटेटर हैं और उन्हें उनका यही काम करना चाहिए. चौहान किसी कार्यक्रम में थे और उन्होंने पूर्व क्रिकेटरों की तरफ से शास्त्री को हटाने की मांग पर यह जवाब दिया.

चौहान ने कहा कि निश्चित ही टीम इंडिया को इंग्लैंड दौरे में बेहतर प्रदर्शन करना चाहिए था. दोनों ही टीमें करीब-करीब बराबरी की थीं, लेकिन भारतीय टीम इंग्लैंड के पुछल्लों की काट नहीं निकाल सकी.  इसके अलावा चौहान ने चौहान ने शास्त्री को उस बयान के लिए भी आड़े हाथ लिया, जिसके तहत भारतीय कोच ने कहा था कि भारत विश्व में दौरा करने वाली सर्वश्रेष्ठ टीम है. इस पर चौहान ने कहा कि मैं शास्त्री से सहमत नहीं हूं. साल 1980 में विदेशी दौरा करने वाली भारतीय टीम विश्व में सर्वश्रेष्ठ थी.

एशिया कप में भारत के आसारों पर चौहान ने कहा कि यहां टीम से बेहतर परिणाम की उम्मीद है. अनुभव और युवा खिलाड़ियों से सुसज्जित यह भारतीय टीम एक संतुलित टीम है. बता दें कि चौहान से पहले सौरव गांगुली और वीरेंद्र सहवाग ने भी शास्त्री को कोच पद से हटाने की मांग की थी.

Translate »